आखिर क्यों अमिताभ बच्चन ने ये सच देशवासियों से छुपाया

99194

दोस्तो आपको याद होगा ये नवंबर-दिसंबर सन् 2005 की बात है अमिताभ बच्चन अपने स्वर्गीय पिता हरिवंश राय बच्चन की जयंती के अवसर पर अपने परिवार के साथ उत्तर प्रदेश गए हुए थे. उन्होंने वहाँ एक समारोह में हिस्सा लिया लेकिन पेट दर्द के बाद उन्हें सोमवार सुबह साढ़े दस बजे दिल्ली के एस्कोर्ट्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया था और हमारे देश की सर्वकालिक महान कांग्रेसी मीडिया ने इसे 24 घंटे दिखाकर राष्ट्रीय शोक घोषित करके सभी लोगोँ से ये कहा था कि अमिताभ बच्चन गंभीर रूप से बीमार है अपना सब लोग अपना काम-धाम छोड़ के भगवान से प्रार्थना करो !!!!

पूरी घटना को विडियो में देखिए >>

पूज्य राजीव दीक्षित अपने व्याख्यान मेँ सभा को संबोधित करते हुये कहते हैँ कि- अमिताभ बच्चन नाम का एक फिल्म एक्टर है थोड़े समय पहले ये बीमार पड़ा और इसका ऑपरेशन हुआ और ऑपरेशन पूरे 9 घंटे चला उसे कुछ कोलाइडिस नाम की आंतो कि अंतड़ियोँ के सड़ जाने की बीमारी थी तो जिस डॉक्टर ने उसका ऑपरेशन किया उससे मैँने पूछा की 9 घंटे तक आपने क्या ऑपरेशन किया ? ??

डॉ. बोला उसकी बड़ी आँत सड़ गई थी जगह जगह से उसको काटकर निकलना पड़ा तो फिर मैँने पूछा आपने ये 9 घंटे तक आँत काटकर क्योँ निकाला डॉ. बोला नहीँ निकालता तो ये मर जाता तो बचाने के लिये ये करना पड़ा !

फिर राजीव भाई जी लोगो से कहते हैँ बड़ी आँत सामान्य लोगो की नहीँ सड़ती है जो लोग “गाय का माँस (BEAF) सुअर का माँस (PORK) लाल माँस (RED MEAT) ,
शराब,सिगरेट,गुटखा,पिज्जा,बर्गर,हॉट-डॉग,मैगी ये सब खाते हैँ उन लोगोँ की बड़ी आँत सड़ती है”
लेकिन अमिताभ बच्चन तो इनमेँ से कुछ नहीँ करता (वैसे वो अभी टीवी विज्ञापनोँ पर 5 रुपये की छोटू मैगी खाता दिख जायेगा) तो मैँने डॉ से पूछा फिर कैसे उसकी बड़ी आँत सड़ गई ?

तो डॉ. बोला “वो पेप्सी और कोकाकोला जैसे कोल्ड ड्रिँक पीता है और दस साल से पी रहा है और इससे भी अंतड़िया सड़ जाती हैँ”
मैँने डॉ. से कहा कि क्या आपने अमिताभ बच्चन को इस बारे मे बताया ? डॉ बोला हाँ बता दिया। मैँने पूछा कि उसने क्या कहा उसका क्या रियेक्शन था ? तो डॉ बोला अमिताभ बच्चन ने अब से पेप्सी कोकाकोला का विज्ञापन करना बंद दिया पहले वो खूब एड करता था पर अब बंद कर दिया ! आज 2012 तक अमिताभ बच्चन pepsi coke की ad नहीं करता !(सभा मेँ तालियाँ गूंज उठी)

राजीव भाई जी बोले जब मुझे कन्फर्म हो गया तब मैँने अमिताभ बच्चन को E-Mail किया और उससे पूछा तो उसने कहा Yes It Is All True यह सब सच है कि मेरी आंते पेप्सी कोक पीने से सड़ गयीँ थी और उसे काट के निकाला गया।

मैँने बोला अमिताभ से कि आप ये सब टीवी/मीडिया पर बोल दो (सभा मेँ उपस्थित सभी लोग हँसने लगे) और अपने साथ ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर को भी बिठा दो वो भी बतायेगा कि कैसे मैँने 10 साल तक पेप्सी पी और आँते सड़ गईँ और उसे काट के निकालना पड़ा। तो अमिताभ ने कहा कि मैँ ये नहीँ कर सकता तो मैँने बोला कि इसपे एक 3 घंटे की फीचर फिल्म बना दो कि कैसे पेप्सी-कोक से आँते सड़ जाती हैँ उसने कहा कि मैँ ये भी नहीँ कर सकता मैँने पूछा क्योँ नहीँ कर सकते ! क्या तकलीफ है ??

FB_IMG_1428894122099

अमिताभ बच्चन बोला-मैँने कोल्डड्रिँक कंपनियोँ से 100 करोड़ रुपये लिये हैँ और जब रुपये लिये तब कंपनी ने मुझसे एग्रीमेँट मेँ लिखवा लिया की जब तक ये दोनों अमेरीकन कंपनिया पेप्सी,कोक भारत मेँ रहेँगी मैँ उनके खिलाफ एक भी बात नहीँ बोलूंगा ऐसा समझौता हुआ है।
और अगर मैँने ऐसा उनके खिलाफ बोला तो वो मुझ पर 500 करोड़ का दावा ठोँक देँगी और ये 500 मुझे देना पड़ेगा और मेरा पास इतना पैसा नहीँ है मैँ कंगाल और भिखारी हो जाऊंगा (ध्यान दीजिये ये सन् 2005 की बात है फालतू के ख्याल दिमाग मेँ मत लाये) इसीलिये मैँ कंपनी के खिलाफ नहीँ जा सकता। मैँने पूछा मैँ बोलू इनके खिलाफ तो उसने बोला हाँ आप बोल दो, आपने तो कोई समझौता नहीँ किया है। मैँने फिर पूछा आपका नाम लेकर बोलूं तो अमिताभ बच्चन ने कहा हाँ मेरा नाम लेकर बोल दो अगर मेरा नाम लेके लोगो का भला होता है तो बोल दो कि अमिताभ बच्चन को ठंडा मतलब कोकाकोला पीने से ये हुआ है तो मुझे कोई समस्या नहीँ है, आप मेरा नाम लेकर बोल सकते हैँ

FB_IMG_1427653948602

अब राजीव भाई सभा मेँ उपस्थित लोगो से कहते हैँ कि अब आप लोग देख लो कि ये पेप्सी-कोकाकोला आदि कोल्डड्रिँक्स कितनी खतरनाक हैँ इसीलिये कभी गलती से भी मत पीना और कभी आपके घर मेँ मेहमान-अतिथि आयेँ तो उन्हेँ भी बिल्कुल मत पिलाना,हमारी संस्कृति कहती है ! अतिथि देवो भव !
अतिथि भगवान के समान होते हैँ !और उन्हेँ टॉयलेट क्लीनर या संडास साफ करने का पानी नहीँ पिलाया करते (सभा मेँ उपस्थित सभी लोग हँसने लगे) ये आप ध्यान रखे !!

DOWNLOAD-BUTTON-PNG

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें