देखिये वोट देते समय हमें किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए

5041

अबकी बार के चुनाव में आप इस बात का ध्यान रखिए कि जो लोग गेट करार का विरोध करते हैं जो मल्टीनेशनल का विरोध करते हैं जो विदेशी कंपनियों का विरोध करते हैं भारत के क्षेत्रीय समाज को समृद्ध बनाना चाहते हैं क्षेती को संपन्न बनाना चाहते हैं उन्हीं को वोट करें और मेरा आप को हाथ जोड़कर निवेदन है कि वोट करते समय पक्ष को ध्यान में मत रखिए व्यक्ति को ध्यान में रखिए क्योंकि पक्ष कई बार बेईमान हो जाते हैं हम पक्ष को एक बात के लिए चुनकर भेजते हैं कि इस काम को करने के लिए जा रहे हैं जब वह वहां पहुंच जाते हैं तब यह नहीं हो सकता तो कुछ और बताओ यह नहीं हो सकता और कुछ और बताओ तो फिर वह अपने मूल मुद्दे सब भूल जाते हैं फालतू फालतू काम करना शुरु कर देते हैं इसलिए पक्ष को वोट मत करिए व्यक्तियों को वोट करें कोई बहुत अच्छा कामदार है कोई बहुत अच्छा खासदार है लेकिन उसका पक्ष खराब है तो भी आप उस अंदर और खासदार को वोट करिए क्योंक पक्ष को अगर आपने वोट किया पक्ष तो नागनाथ और सांपनाथ हैं दोनों ही डसेंगे चाहे जिस से डसवा लो अपने आप को !

आजादी के 60 साल में यही हुआ है इसलिए व्यक्तियों को चुनिए और व्यक्तियों को चुनते समय उनकी कुछ विशेषताएं हैं जो ध्यान में रखिए कि वो व्यक्ति कितना ईमानदार है कितना चरित्रवान है रात को रोज दारु पीकर तो नहीं सोता है रात को कोई खराब काम तो नहीं करता है गलत काम तो नहीं करता है पर स्त्री का मन तो नहीं करता पर वैश्य का मन तो नही करता ऐसी बातों को चुनकर अगर आप ध्यान देंगे तो अच्छे लोग चुनकर जाएंगे और अच्छे लोग हमेशा अच्छे ही काम करते हैं बुरे लोगों को चुनकर भेजेंगे तो बुरे काम ही करेंगे अभी तो आप ऐसा चुनाव करते हैं कि एक व्यक्ति है उसने 100 मर्डर किया है दूसरे ने 90 मर्डर किए हैं आप 90 वाले को वोट दे देते हैं वह 90 वाला जब चुन कर जाता है वह 150 मर्डर करा देता है और उसका बाप निकलता है पिछले वाले का ऐसा चुनाव मत करिए\

विस्तार से जानने के लिये राजीव दीक्षित जी का ये विडियो देखे >>

ईमानदार चरित्रवान पारदर्शी साहसी पराक्रमी यह 5 सूत्र है ईमानदार चरित्रवान पारदर्शी साहसी पराक्रमी ऐसे गुण जिसमे भी है वह सब को चुनवाकर संसद भेजना लोकसभा में भेजना मतदान के समय ध्यान दीजिए वोट देते समय ऐसे व्यक्तियों को जो विदेशी कंपनियों का बहिष्कार करते हैं गेट करार को रद्द कराने की बात करते हों
अंग्रेजों के जमाने के बनाए हुए कानूनों को खत्म करने की बात करते हैं उसके आधार पर आप वोट दीजिए जो नेता WTO की खिलाफत नहीं करते जो डब्ल्यूटीओ को रद्द करने की बात कर नहीं करते उन सब पुडारिओं को इस बार के चुनाव में सबक सिखाएंगे आप एक ही बात तय कर लो उसके बाद सब ठीक हो जाएगा इस देश में

चुनाव आएगा आपके मतदान संघ से मतदार संघ से जो भी व्यक्ति का खासदार है उसको आप सीधे सवाल पूछो देखो भाई 13 साल से ये गेट करार हमारे देश में आया आपने गेट करार को रद्द करने के लिए पिछले 13 साल में क्या किया और आने वाले 5 साल में आप क्या करेंगे तभी हमारा वोट आप को मिलेगा जिस दिन आपने वोट को गेट करार के सवाल से जोड़ दिया उसी दिन खासदारों को झक मारके कहना पड़ेगा कि हाँ हम गेट करार को रद्द करेंगे अगर तुम रद्द करोगे तो स्टांप पेपर पर लिख कर दो पुरे पब्लिक के सामने घोषणा करो कि मैं लोकसभा में जाने के बाद गेट करार को रद्द कराने के लिए काम करूंगा अगर तुमने नहीं कराया तुमको वापस बुला कर दूसरे को भेजेंगे हम गेट करार करने को रद्द कराने के लिए तकलीफ यह नहीं कि 5 साल तुमको चुनकर भेज दिया तो हम 5 साल चुप बैठ जाएंगे तुमने अगर काम नहीं किया तो तुम को वापस बुलाएंगे दूसरे को भेज देंगे तीसरे को भेज देंगे तो गेट करार को रद्द कराने वाले खासदार चाहिए लोकसभा में गेट करार को रद्द कराने वाले आमदार चाहिए विधानसभा में

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें