वो बेवकूफ बना रहे है और आप बन रहे है ! बच्चो को छोड़ो, यहाँ तो बड़े ही मुर्ख बन रहे है

21866

IIT मैं एक लड़का खड़ा हो गया कहने लगा क्या राजीव भाई क्या उलटी उलटी बात करते हैं एक ही नीम के दातुन को हम कितनी बार करें तो मैंने कहा भाई जरा एक बताओ 1 टूथ ब्रश को कितनी बार करते हो एक दिन करते हैं धो के रख देते हैं दूसरे दिन करते हैं फिर धो के रख देते हैं साल भर तक रगड़ते रहते हैं 1 टूथ ब्रश तो गंदा नहीं लगता और एक नीम का दातुन मैं कह रहा हूं हफ्ते भर रगड़ो तो गंदा लगता है तो उस लड़के ने जानते हैं क्या जवाब दिया सच में राजीव भाई हमारा दिमाग तो एकदम उल्टा हो गया है मैंने कहा यह दिमाग तुम्हारा उल्टा पता किसने बनाया टेलीविजन ने उसको तुम टेलीविज़न कहते हो मैं उसको इडियट बॉक्स कहता हूं और क्या इडियोसिटी दिखाता है जानते हैं दो पति-पत्नी तथा चल रहे हैं थोड़ी देर के बाद पत्नी मुंह फेर लेती है कैसी है कैसे कहूं इनकी सांस में बदबू आती है तो उसकी सहेली कहती है चल मेरे साथ दोनों डॉक्टर के पास जाते हैं डॉक्टर साहब कहते हैं अरे कोलगेट का सुरक्षा चक्र अपनाया नहीं सांस में बदबू तो आएगी फिर उनके घर में कोलगेट आ जाता है उनके मिस्टर जिनकी सांस में बदबू आती है वो कोलगेट रगड़ते हैं कोलगेट रगड़ने के बाद दिखाते हैं उनकी पत्नी उनके नजदीक आ जाती है नीचे एक लाइन लिखते हैं दूरियां नजदीकियां बनी

जानते हैं इसका मतलब क्या है इसका मतलब है दो पति-पत्नी अगर कोलगेट नहीं करेंगे तो दूर-दूर रहेंगे कोलगेट करेंगे तभी नजदीक आएंगे अब आप मुझे बताइए कि इससे इडियोसिटी कोई दूसरी हो सकती है भारतीय संस्कृति में पति पत्नी का रिश्ता परस्पर प्रेम परस्पर विश्वास परस्पर सद्भाव पर टिका होता है टेलीविजन सिखा रहा है कि नहीं कोलगेट पेस्ट पर टिका हुआ है और इसीलिए इस हंड्रेड परसेंट इडियोसिटी से बाहर आ जाइए फायदा जानते हैं क्या होगा अगर आप लिमडा का दातुन खरीदें हम सब 1 साल में कितना पेस्ट खरीदने हैं मालूम है सारे देश में 200-250 करोड़ का पेस्ट खरीदा जाता है साल भर में अगर यह दौ सौ ढाई सौ करोड़ का लिमडा का दातून खरीदना शुरू कर दें तो इस देश के कितने गरीबों को काम मिल जाएगा और तब आप कहेंगे राजीव भाई अगर हम सब लिमडा का दातुन करना शुरु करें तो नीम का झाड़ तो खत्म हो जाएगा तब मैं आपको एक दूसरा फॉर्मूला देकर जा रहा हूं कि आपका जब जन्मदिन होता है ना तो क्या करते हैं कि केक लेकर आते हैं मोमबत्ती जलाते हैं फिर फु फु फु फु फूंक मार के सब भुजाते हैं  हमारी भारतीय संस्कृति में दीपक कब बुझाया जाता है जब किसी की मौत हो जाए हम क्या करते हैं जन्मदिन पर ही दीपक बुझा रहे हैं माने मरने की तैयारी कर रहे हैं तो आप अगर मुझसे पूछे कि राजीव भाई जन्मदिन कैसे मनाए उसका बेस्ट फार्मूला मैं आपको देकर जा रहा हूं जब भी आपका जन्मदिन आए तो संकल्प करिए कि हम हमारे जन्मदिन पर एक नीम का झाड़ लगाएंगे पेड़ लगाएंगे और मान लीजिए आपके 50 जन्मदिन आए तो 50 झाड लगेंगे और एक नीम का झाड़ जब बन जाता है तो साल भर में 15 लाख रुपए की ऑक्सीजन देता है एक नीम का झाड तो हमने अगर 50 नीम के पेड़ लगाए अपने हर जन्मदिन पर तो 50 x1500000 माने कितना-कितना कोई एक बोले कोई एक बोले नहीं सुनाई दिया कोई एक सिंगल साढ़े 7 करोड़ रुपए की ऑक्सीजन किसने दी हमने जो नीम का झाड लगाया अब मैं आपसे ऐसे कहूं कि साढ़े 7 करोड़ करोड़ रुपया देश को दान करिए आप कहेंगे है ही नहीं हमारे पास और अगर यह मैं कैसे कहूं कि साढ़े 7 करोड़ करोड रुपए की ऑक्सीजन दान करिए वह हम सब कर सकते हैं एक एक नीम का झाड़ लगाए आपके देश में दातून की भरमार हो जाएगी और दातुन की भरमार के साथ-साथ ऑक्सीजन भी इफरात में हो जाएगी कि पर्यावरण का प्रदूषण एक झटके से खत्म हो जाएगा यह तो यह बेस्ट फार्मूला है दातुन करें दातुन के लिए एक नीम का झाड़ लगाए और अपने हर जन्मदिन पर लगाएं हिंदुस्तान की यह जो पर्यावरण की समस्या है इसका अभी समाधान हो जाएगा और यह जो 200-250 करोड रुपए बर्बाद हो जाते हैं टूथपेस्ट खरीदने में वह बच जाएंगे

अधिक जानकारी के लिये राजीव भाई का ये विडियो देखे >>>

tv-advertisment-exposed-by-rajiv-dixit-ji-www-rajivdixitji-com embed youtube

ऐसे ही एक आखिरी सुझाव और एक परदेसी कंपनी आई है वह पानी बेचती है पेप्सी कोला कोका कोला थ्म्ब्स अप लिम्का और यह जितना पानी है ना सब की बोतल पर आपको मालूम है क्या क्या मिलाते हैं कभी नहीं बताते क्यों नहीं बताते क्योंकि उसमें जहर मिलाते हैं जहर पता है क्या है कार्बन डाइऑक्साइड मेडिकल साइंस कहता है कि कार्बन डाइऑक्साइड को exhale करना चाहिए और ऑक्सीजन inhale करना चाहिए हम क्या करते हैं लहर pepsi पी के कार्बन डाइऑक्साइड अंदर ले जाते हैं माने दोस्तों जो लहर पेप्सी है वह सच में जहर पेप्सी है और यह जो जेहर पेप्सी क्यों है क्योंकि इसमें कार्बन डाइऑक्साइड है दूसरी दो चीजें और हैं जो बहुत खतरनाक है सोडियम ग्लूटामेट और पोटेशियम सोर्बेट यह दोनों जहर है दोनों कैंसरस हैं

आप इस पोस्ट को ऑडियो में भी सुन सकते है >>>

और यह कितना खतरनाक हो सकता है इसके दाखिला (उदहारण) में आपको दूँ, 1 साल पहले मैं आया था ग्रांट रोड के कॉलेज में मेरा एक व्याख्यान था तो वहां के प्रिंसिपल साहब ने मुझे बताया राजीव भाई हमने एक कंपटीशन किया मैंने का क्या कंपटीशन किया पेप्सी कोला पीने का कंपटीशन किया मैंने कहा परिणाम क्या निकला तो कहने लगे हमारे दो स्टूडेंट थे वो फाइनल राउंड में पहुंच गए तो फाइनल राउंड में पहुँच गए तो क्या उन्होंने शूरवीरता दिखाई की एक 1 घंटे में एक लड़के ने 9 बोतल पिया और दूसरे ने 8 बोतल पिया मैंने कहा फिर क्या हुआ उसके बाद की दोनों मर गए मैंने कहा फिर आपने क्या किया कि हम डॉक्टर को लेने गए उन लड़कों को लेकर डॉक्टर के पास गए डॉक्टर ने कहा इतना कार्बन डाइऑक्साइड पी लिया है कि अब यह बच नहीं सकते तो मैंने कहा फिर आपने क्या किया तबसे हमने हमारी कैंटीन में पेप्सी और कोका कोला बंद करा दिया मैंने कहा प्रिंसिपल साहब आपको अकल तो आई लेकिन तब आई जब आप के दो स्टूडेंट मर गए यह इतना खतरनाक जहर है और एक बार मैंने एक्सपेरिमेंट किया पेप्सी कोला पे मेरा एक दांत टूट गया तो मैंने उसको पेप्सी कोला की बोतल में डाल दिया 9 दिन के अंदर पूरा दांत Disolve हो गया यह जो दांत होता है ना इतनी कड़ी चीज है कि मिट्टी में दबा दीजिए एक साल तक गलता नहीं है ऐसे का ऐसे निकल आएगा लेकिन वह दांत 9 दिन के अंदर पेप्सी कोला में घुल गया है क्यों क्योंकि जहर है उसमें और मैंने कहा कि जब दांत इसमें घुल सकता है तो पेट का क्या-क्या गलेगा जब आप उसको पी रहे हैं और सब लोग पेप्सी जब पीते हैं कोका कोला पीते हैं तो मैं लोगों से पूछता हूं कि मैंने कभी पिया नहीं कभी-कभी मैं मेरे दोस्त से कहता हूं कि भाई तुमको क्या लगता है जब तुम पेप्सी पीते हो राजीव भाई नाक में सनसनी होती है दिमाग में सनसनी होती है खट्टी खट्टी डकारे आती है मैंने कहा काहे को पी रहे हो फिर भाई इतनी प्रॉब्लम हो रही है फिर भी बोतल पे बोतल चढ़ाए चले जा रहे हैं क्योंकि पी रहे हैं मालूम है सचिन तेंदुलकर कहता है अजरुद्दीन कहता है शाहरुख खान कहता है आमिर खान कहता है जूही चावला कहती है ऐश्वर्या राय कहती है और यह सब क्यूँ कहते हैं जानते हैं लाखों लाखों करोड़ों करोड़ों की रिश्वत मिलती है इनको पेप्सी कोला से सचिन तेंदुलकर हर साल पेप्सी कोला से 70 लाख रुपए लेता है इसके लिए उसका धन्दा करता है यह शाहरुख खान और आमिर खान यह एक एक करोड़ लेते हैं इसलिए पेप्सी कोला का धन्दा करते हैं यह जितने क्रिकेट खिलाड़ी हैं जिनको आप नेशनल प्लेयर कहते हो यह सब विदेशी कंपनियों के एजेंट हैं दोस्त्तों हर एक क्रिकेट खिलाड़ी जो टी शर्ट पहनता है उस पर पेप्सी लिखा रहता है विल्स लिखा रहता है अब आप पूछिए यह प्रश्न यह तो हिंदुस्तानी लोग हैं विदेशी कंपनी की विज्ञापन क्यों कर रहे हैं तो आपको पता चलेगा कि यह बड़े-बड़े गद्दार लोग हैं सचिन तेंदुलकर को हर महीने 50 हजार रूपये पगार मिलती है हमारे खून पसीने की कमाई से यह पगार हम उसको क्यों देते हैं क्रिकेट खेलने के लिए उसमें भी उसका पेट नहीं भरता तो विदेशी कंपनी का विज्ञापन करता है यह नेता ही देश बेचने में नहीं लगे हुए हैं यह क्रिकेट के खिलाडी भी देश बेच रहे हैं और यह रात दिन जानते हैं क्या हो रहा है हिंदुस्तान की क्रिकेट टीम दो ही कंपनी का सबसे ज्यादा विज्ञापन करती है पेप्सी कोला यां विल्स और यह दोनो कंपनियां क्या नुकसान कर रही है पेप्सी कोला हर साल हिंदुस्तान से 240 करोड रुपए कमा कर ले जाता है अमेरिका|
जहर बेचते हैं और यहां से 240 करोड अम्रीका चला जाता है और उस 240 करोड़ में क्या हो सकता है आपको मालूम है हिंदुस्तान के 2 लाख गांवों को पीने का पानी मिल सकता है इस देश में आजादी के 50 साल के बाद 2 लाख गांवों में पीने का पानी नहीं है यह सरकार के आंकड़े हैं मेरे नहीं है और करोड़ों करोड़ों लोग पीने के पानी से प्यासे हैं गुजरात में मैंने मेरी आंखों से देखा है कछ में इतनी जबरदस्त पानी की कटौ कटी है कि एक एक घड़ा पानी लेने के लिए 15 15 किलोमीटर बहने पैदल पैदल चलकर जाती हैं

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें