आज ही छोड़ दें सिगरेट, नहीं तो बॉडी पर होंगे ये 8 असर ! छोड़ने का तरीका भी हम बताएँगे

16373

अमेरिकन में एक संस्था है जिसका नाम लंग एसोसिएशन है इसकी रिसर्च में साबित हुआ है कि सिगरेट को जलाने पर इसमें से 7000 से ज्यादा केमिकल्स निकलते हैं। ओर इन सब में से  69 खतरनाक केमिकल्स होते हैं जो आपको कैंसर का मरीज बना सकते है. ये केमिकल्स केमिकल आपके शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर असर डालकर आपके शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। आज हम बता रहे हैं सिगरेट से बॉडी पर होने वाले 8 नुकसानों के बारे में।

फेफड़े – रेगुलर सिगरेट पीने से फेफड़ों में जमा होने लगता है इससे फेफड़ों का कैंसर होने की आशंका 90% बढ़ जाती है

किडनी – सिगरेट का धुआं बॉडी में ब्लड सरकुलेशन को कम कर देता है इससे किडनी ख़राब होने का खतरा 51 प्रतिशत तक बढ़ जाता है

हार्ड – रेगुलर सिगरेट पीने से बीपी बढ़ने लगता है जिसके कारण स्ट्रोक और हार्ट अटैक की आशंका भी बढ़ जाती है

ब्रेन – रिसर्च में यह साबित हुआ है कि सिगरेट पीने से ब्रेन का कॉल टेकर वाला हिस्सा पतला होने लगता है इससे मेंटल पावर कमजोर होने लगती है

आंख – सिगरेट में मौजूद तंबाकू में कई ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो आंखों को नुकसान पहुंचाते हैं इससे आंखों की नमी खत्म होना, मोतियाबिंद, लेडजनरेसन और ऑप्टिक न्यूरोपैथी की प्रॉब्लम होने लगती है

मुंह- इसमें मौजूद केमिकल मुंह की लार सुखाने कैविटी और दांत के कमजोर होने जैसी  प्रॉब्लम पैदा करते हैं इसे मुंह का कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है

हड्डियां – इसमें मौजूद निकोटीन बॉडी में एस्ट्रोजन हार्मोन के फैट को कम करता है इससे हड्डियां कमजोर होती हैं

डी. एन. ए. – रिसर्च में यह साबित हुआ है कि सिगरेट में फैलाना ट्रेन नामक तत्व पाया जाता है यह ब्लड में मिलकर dna को नुकसान पहुंचाता है इससे कैंसर की आशंका बढ़ जाती है

अब जानिए सीक्रेट में कौन-कौन से जहरीले पदार्थ पाए जाते हैं >>

अमोनिया – यह केमिकल ब्राइटनिंग लिक्विड और टॉयलेट क्लीनर बनाने में यूज किया जाता है यह तंबाकू से निकोटीन को अलग कर गैस में बदलता है

निकोटिन – यह केमिकल सीधे ब्रेन पर तेजी से असर करता है इस से बॉडी में नशा पहुंचता है इसके कारण सिगरेट पीने की लत लग जाती है

तार – यह केमिकल धोने के रूप में फेफड़ों में फेफड़ों में जम जाता है जिससे फेफड़ों का कैंसर होता है एक सिगरेट के धुएं से निकलने वाले तार का 70% हिस्सा फेफड़ों में ही जमा लिया जाता है

आरसेनिक – यह केमिकल चूहे मारने का जहर बनाने में यूज किया जाता है धुए के रुप में या फेफड़ों तक पहुंच कर बुरा असर डालता है

बेंजीन – इसके कारण ब्लड कैंसर होने का खतरा रहता है इसमें कोयला और पेट्रोलियम जैसे ज्वलनशील पदार्थ मिले होते हैं यह सिगरेट को जलाए रखने में हेल्प करता है

फार्मेल्डिहाइड – यह काफी जहरीला केमिकल होता है इसका यूज डेड बॉडी को सेफ रखने में किया जाता है इसकी वजह से कैंसर का खतरा रहता है

कार्बन मोनोऑक्साइड – यह काफी जहरीली गैस होती है यह शरीर के अंदर जाकर ऑक्सीजन की मात्रा को कम करती है इससे सिर दर्द बुखार और सांस लेने की प्रॉब्लम होती है

सारी जानकारी लिख पाना असंभव है ये विडियो देखिए >>

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें