अगर आप भी एसिडिटी से परेशान हों तो इस छोटे से नियम के द्वारा पाए छुटकारा

17878

अक्सर एसिडिटी होने पर लोग एंटासिड या एसिडिटी की महंगी दवाओं की तरफ भागते हैं।राजीव दीक्षित जी का कहना था कि एसिडिटी का असली कारण खान-पान की गलत आदतें है। अगर इन आदतों में बदलाव लाया जाए तो एसिडिटी से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।  एसिडिटी की दवा से आपकी किडनी खराब हो सकती हैं । जब हम खाना खाते हैं तो इस को पचाने के लिए शरीर में एसिड बनता हैं। जिस की मदद से ये भोजन आसानी से पांच जाता हैं। ये ज़रूरी भी हैं। मगर कभी कभी ये एसिड इतना ज़्यादा मात्रा में बनता हैं के इसकी वजह से सर दर्द, सीने में जलन और पेट में अलसर और अलसर के बाद कैंसर तक होने की सम्भावना हो जाती हैं।

एसिडिटी बहुत ही भयानक बिमारी है. इसमें बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है. अगर इसे ठीक करना है तो, आप गों मूत्र पी लो इससे एसिडिटी बिलकुल नही होगी. राजीव भाई ने इसके लिए एक और सरल और सस्ता तरीका बताया है, कि पानी घूँट घूँट करके पियो कभी भी एसिडिटी नही होगी. इस उपाय से भी आप एसिडिटी होने से रोक सकते है, खाना खूब चबा चबा के खाओ कभी भी एसिडिटी नही होगी.

ये एसिडिटी उनको भी होती है, जो जल्दी जल्दी खाना खाते है. खाना खाने के बारे मे आयुर्वेद में कहा गया है, की इसे बहुत शांति से धीरे धीरे खाना चाहिए. आपको खाने एक टुकड़ा 32 बार चाबना है. अब उसे 32 से गुना करे राजीव भाई ने खा के देखा की 4 रोटी खानी हो और हर टुकड़े को 32 बार चबाना हो तो 20 मिनट लगते है, और कोई 4 से ज्यादा अगर 6 खाएगे तो ज्यादा से ज्यादा  30 मिनट समय लगेगा 30 मिनट से ज्यादा नही लगता. आप खाना खाने मे थोडा चबाने मे ध्यान दो तो ये आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा. जानवर खाने को तो कितना चबाते है गाय, भैंस खाना खाते है, तो दो घंटे तक चबाते रहते है, जिसको हम जुगाली करना कहते है, इसीलिए वो हमसे ज्यादा स्वस्थ है.

आगे जानिए एसिडिटी से राहत की होम रेमेडी >>

लौंग – लौंग चबाएं या लौंग उबालकर उसका पानी पिए. ये गैस और एसिडिटी से राहत दिलाती है.

ठंडा दूध – ठंडा दूध पेट में जाकर एसिड को न्यूट्रीलाइट करता है. पेट को ठंडक पहुचाता है.

केला – केले की अल्कलाइनप्रॉपर्टी पेट के एसिड को न्यूट्रीलाइट करती है ओर एसिडिटी और खट्टी डकार से राहत दिलाती है

नीम्बू और बेकिंग सोडा : एक गिलास गुनगुने पानी में एक नीम्बू निचोड़कर उसमें एक चुटकी बेकिंग सोडा मिला लें और इसे सुबह खाली पेट पीएं. ऐसा करने से पेट में गैस बनने की समस्या दूर होती है और एसिडिटी, बदहजमी, फूड पॉइजनिंग,कब्ज आदि बीमारी से भी छुटकारा मिलता है।

गुनगुने पानी और हींग : एक गिलास गुनगुने पानी में थोड़ा-सा हींग मिलाकर दिन में 3 बार पीने से गैस की समस्या से जल्द आराम मिलता है. अगर हींग उपलब्ध न हो तो, केवल गुनगुने पानी पी सकते हैं, इससे भी गैस में राहत मिलती है।

छाछ और काला नमक : पेट में गैस बनने की प्रॉब्लम हो तो, छाछ में आवश्यकतानुसार काला नमक मिलाकर पीएं, ऐसा करने से यह बीमारी तुरंत समाप्त हो जाते हैं. यह समस्या होने की स्थिति में छाछ और काला नमक सबसे ज्यादा विश्वसनीय उपाय है।

खाने के बाद इलायची का सेवन : जब भी आप खाना खाते है तो उसके बाद जरूर इलायची ओर एक लौंग का सेवन करे, ये वस्तुएं आप के पेट मे खाना खाने के बाद एसिडिटी ओर गैस को बनने से रोक देती है।

अदरक का सेवन : अदरक का छोटा सा टुकड़ा लेकर उसे चबाये फिर उसके बाद गुनगुना पानी का सेवन करे, या फिर आप पानी मे अदरक को पानी मे उबाल कर उसका सेवन कर सकते है।

अजवाइन के बीज : अजवाइन के बीजों में थाइमॉल नामक एक यौगिक होता है, जो पाचन में मदद करता है। अगर आप भी अक्सर गैस की समस्या से पीड़ित रहते है तो आप रोज खाने के बाद चुटकी भर अजवाइन खा लें। आप चाहे तो आप सुबह एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवाइन डालकर खली पेट पी लें, इससे आपको बहुत फायदा होगा।

इस प्रकार अगर आपको भी पेट में गैस बनने की समस्या है तो हमारे द्वारा बताए गए इन उपायों को अपनाकर इससे जल्द आराम पा सकते हैं और स्वस्थ रह सकते हैं।

ये विडियो देखिये >>