एसिडिटी की शिकायत है तो तुरंत बदलें ये 8 चीजें ! हल हो जाएगी समस्या

78410

अक्सर एसिडिटी होने पर लोग एंटासिड या एसिडिटी की महंगी दवाओं की तरफ भागते हैं। एम्स भोपाल के आयुष विभाग के डॉ. अजय सिंह बघेलका कहना है कि एसिडिटी का असली कारण खान-पान की गलत आदतें है। अगर इन आदतों में बदलाव लाया जाए तो एसिडिटी से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।

आइए जानते हैं कौन सी वह 8 आदतें हैं जिनमें बदलाव लाकर एसिडिटी से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है।

बदलाव 1 – खाने के बीच में 3-4 घंटे से ज्यादा का गैप न करे

कारण – खाना पचने में 3-4 घंटे लगते है उसके बाद पेट में अपने आप एसिड बनना शुरू हो जाता है

बदलाव 2 – रोज निर्धारित समय पर ही खाए

कारण – ब्रेन और पेट की मेमोरी में खाने का समय दर्ज रहता है, समय होने पर बॉडी से डाइजेस्टव एसिड रिलीज होने लगते है

बदलाव 3 – खाना धीरे – धीरे और अच्छी तरह चबाकर खाए

कारण – खाना अच्छे से न चबाने से खाने के बड़े टुकड़े डाइजेस्ट करने के लिए पेट ज्यादा एसिड रिलीज करता है

बदलाव 4 – अपनी फूड हेबिट में बदलाव करे

क्या करे – स्पाइसी, ऑयली, फ़ास्ट फूड के बजाय ज्यादा फाइबर, नट्स, हरी सब्जियां, बीन्स वगेरा खाए

बदलाव 5 – अल्कलाइन फूड्स की मात्रा बढाए

कारण – अल्कलाइन फूड एसिडिटी को न्यूट्रल करते है सोडे वाला नींबू पानी, सलाद, गाजर, खीरा खाए. पानी ज्यादा पिए

बदलाव 6 – एंटीबायोटिक्स या गर्म दवाओ का सेवन कम करके आयुर्वेद या होम्योपैथिक दवा ले

कारण – कई दवाओ के साइड इफ़ेक्ट से एसिडिटी हो सकती है.

बदलाव 7 – सोने से 3-4 घंटे पहले डिनर कर ले.

कारण – सोते समय डाइजेशन की प्रोसेस स्लो हो जाती है. खाना खाकर तुरंत सोने से एसिडिटी की प्रॉब्लम बढती है

बदलाव 8 – वॉक, एक्सरसाइज या योग करे.

कारण – फिजिकल एक्टिविटी न होने से डाइजेशन प्रॉपर नहीं होता और एसिडिटी बढ़ जाती है. रोज आधे घंटे की वॉक या एक्सरसाइज जरुरी है

आगे जानिए एसिडिटी से राहत की होम रेमेडी >>

लौंग – लौंग चबाएं या लौंग उबालकर उसका पानी पिए. ये गैस और एसिडिटी से राहत दिलाती है.

ठंडा दूध – ठंडा दूध पेट में जाकर एसिड को न्यूट्रीलाइट करता है. पेट को ठंडक पहुचाता है.

नींबू, खाने का सोडा – एक गिलास ठन्डे पानी में एक चमच नींबू का रस घोले और उसमे आधा चम्मच बेकिंग सोडा डालकर तुरंत पी लें.

केला – केले की अल्कलाइनप्रॉपर्टी पेट के एसिड को न्यूट्रीलाइट करती है ओर एसिडिटी और खट्टी डकार से राहत दिलाती है

अदरक – जलन होने पर एक टुकड़ा अदरक चबाएं, एक चम्मच शहद में अदरक का रस मिलाकर भी ले सकते है.

सब लिख नहीं सकते इसलिए ये विडियो देखिये >>