इन 10 तरह के लोगो को पीना चाहिए अजवाइन का पानी

1503

पेट से जुड़ी कई तरह की बीमारियों में अजवाइन का पानी काफी फायदा करता है. गुरुकुल कांगड़ी आयुर्वेद विश्वविद्यालय के एचओडी डॉ. अवधेश मिश्राका कहना है कि आयुर्वेद में अजवाइन का इस्तेमाल गैस्ट्रिक ट्रबल, इनडाइजेशन जैसी प्रॉब्लम को दूर करने के लिए किया जाता है.. कैसे बनाएं अजवाइन का पानी ?…

ऐसे बनेगा नुस्खा … अजवाइन का पानी बनाने के लिए एक ग्लास साफ पानी में एक चम्मच अजवाइन डाल लीजिए। फिर पानी का रंग गाढ़ा भूरा होने तक उबालें. इस पानी को ठंडा करके या गुनगुना पिएं.

जिन्हें मोटापे की प्रॉब्लम हो : अजवाइन का पानी मेटाबोलिज्म बेहतर करके बॉडी में जमा फैट को तेज़ी से बर्न करने में हेल्प करता है.

जिन्हें डाइजेशन की प्रॉब्लम हो : अजवाइन का पानी डाइजेस्टिव एंजाइम को एक्टिव करके डाइजेशन बेहतर करता है.

जिनके दांत में दर्द हो : अजवाइन के पानी से कुल्ला करने से दांत दर्द से राहत मिलती है. मूहं की बदबू भी दूर होती है.

जिन्हें गैस्ट्रिक ट्रबल हो : अजवाइन का पानी पीने से पेट की रुकी हुई गैस रिलीज होती है. गैस्ट्रिक ट्रबल में फायदा होता है.

जिनके पेट में कीड़े हो : सुबह खाली पेट अजवाइन का पानी पीने से पेट के कीड़े मर जाते है.

जिन्हें कफ की प्रॉब्लम हो : अजवाइन के पानी की भांप लेने से कफ की प्रॉब्लम में राहत मिलती है. गुनगुना पानी पी भी सकते है.

जिन्हें उलटी आ रही हो : गैस या इनडाइजेशन के कारण होने वाली उलटी की प्रॉब्लम अजवाइन का पानी पीने से ठीक हो जाती है.

जिन्हें स्किन प्रॉब्लम हो : अजवाइन का पानी एंटीमाइक्रोबियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी होता है. इसे पीने से खुजली, रैशेज जैसी प्रॉब्लम में राहत मिलती है.

जिन्हें  मसल्स या हड्डियों में दर्द हो : अजवाइन का पानी एंटी इन्फ्लेमेटरी होता है. इससे सिकाई करने पर ज्वाइंट और मसल्स पेन में राहत मिलती है.

जिनके बाल असमय सफ़ेद हो रहे हो : अजवाइन का पानी रेग्युलर पीने से असमय सफ़ेद बालो की प्रॉब्लम कम होती है.