बैक पेन यानी कमर दर्द आज की बड़ी समस्या जो बहुत तकलीफ देती है, कीजिये इन आसान उपायों से ठीक

498

बैक पेन यानी कमर दर्द ये आजकल की काफी बड़ी समस्या हो गयी है क्योकि लोग अपनी दिनचर्या में से अपने लिए कम और पैसा कमाने के लिए ज्यादा टाइम देते है इसीलिए ये समस्याएँ बढ़ी है. आज हम इसी के बारे में आपको बतायेगे की कैसे हम कमर दर्द से छुटकारा पायें, और आप अपनी कमर को मज़बूत और फ्लेक्सिबल बना कर रखे. इसके लिए आपको सिर्फ ये आसान उपाए करने है. इनसे आपकी कमर मज़बूत और फ्लेक्सिबल बन जायेगी.

लहसुन : भोजन में लहसुन का पर्याप्त उपयोग करें. लहसुन कमर दर्द का अच्छा उपचार माना गया है. लहसुन के प्रयोग से पुराने से पुराना कमर दर्द भी ठीक होने लगता है.
गूगुल : गूगुल कमर दर्द में बेहद राहत देता है. कमर दर्द में उपचार के लिए गूगुल की आधा चम्मच गरम पानी के साथ सुबह-शाम सेवन करें. ऐसा करने से कमर दर्द में आराम मिलता है.

मसाला चाय : चाय बनाने में 5 कालीमिर्च के दाने, 5 लौंग पीसकर और थोड़़ा सा सूखे अदरक बड़ी का पाउडर डालें. दिन मे दो बार इस तरह की मसाला चाय पीएं. मसाला चाय पीते रहने से कमर दर्द में लाभ होता है.
सख्त बिस्तर : सख्त बिस्तर पर सोने से भी कमर दर्द में बेहद आराम मिलता है. ऐसा करने से कमर समतल रहती है और पूरी कमर पर समान दबाव पड़ता है. औंधे मुंह पेट के बल सोना भी हानिकारक है.

दालचीनी : 2 ग्राम दालचीनी का पाउडर एक चम्मच शहद में मिलाकर दिन में दो बार लेते रहने से कमरदर्द में राहत मिलती है.
शरीर को गर्म रखें : कमर दर्द पुराना हो तो शरीर को गर्म रखें और गरम वस्तुएं खाएं. ऐसा करने से कमर दर्द में बेहद राहत मिलती है. सर्दियों में दर्द ज्यादा हो तो ध्यान रखें कि दर्द वाला हिस्सा हवा के संपर्क में न आए.

बर्फ की सिकाई : दर्द वाली जगह पर बर्फ का प्रयोग करना भी लाभकारी उपाय है. इससे भीतरी सूजन भी समाप्त होगी. कुछ रोज बर्फ़ का उपयोग करने के बाद गरम सिकाई प्रारंभ कर देने से अनुकूल परिणाम आते हैं.
पौष्टिक भोजन : भोजन मे टमाटर, गोभी, चुकंदर, खीरा, ककड़ी, पालक, गाजर, फ़लों का प्रचुर मात्रा में उपयोग करें.
भाप की सिकाई : नमक मिले गरम पानी में एक तौलिया डालकर निचोड़ लें. पेट के बल लेटकर दर्द के स्थान पर तौलिये द्वारा भाप लेने से कमर दर्द में राहत मिलती है.

मालिश : रोज सुबह सरसों या नारियल के तेल में लहसुन की तीन-चार कलियाँ डालकर (जब तक लहसुन की कलियाँ काली न हो जायें) गर्म कर लें फिर ठंडा कर प्रभावित जगह पर मालिश करें.
नमक : कढ़ाई में दो-तीन चम्मच नमक डालकर इसे अच्छे से सेक लें. थोड़े मोटे सूती कपड़े में यह गरम नमक डालकर पोटली बांध लें. कमर पर इसके द्वारा सेक करें.

गेंद से एक्सरसाइज : जो लोग ऑफिस में काम करते हैं और अक्सर जिनका सारा दिन कुर्सी पर बैठे ही निकल जाता हैं उनको लोअर बैक पेन की समस्या ज़्यादा आती हैं. उनके लिए ये बहुत उपयोगी हैं. चित्र में दिखाई हुयी गेंद अक्सर ही बाज़ार में मिल जाती हैं. इस गेंद पर हर रोज़ 10 से १५ मिनट एक्सरसाइज करने से कमर की फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ती हैं और कमर दर्द में भी आराम मिलता हैं.

कार्डिओ एक्सरसाइज : कार्डिओ अर्थात हृदय सम्बंधित, ऐसी कसरते जिनके करने से हमारी हार्ट रेट बढ़ जाती हैं. ऐसी कसरते जो थोड़ी टफ केटेगरी में आती हैं. इन कसरतों से हमारी कमर तो स्ट्रांग होती ही हैं साथ में हमारा मोटापा भी कम होता हैं. कुछ कार्डिओ एक्सरसाइज जैसे दौड़ना, पुश अप्स, रस्सी कूदना, स्विमिंग, और एरोबिक वर्कआउट. मगर ये एक्सरसाइज वो लोग ही करे जो कुछ एक्सरसाइज करते हैं, अर्थात शारीरिक रूप से सक्रिय हो. कार्डिओ एक्सरसाइज मोटापे के लिए बहुत बढ़िया हैं. आप इस लिंक पर जा कर कार्डिओ एक्सरसाइज के बारे में पढ़ सकते हैं.

योगा : लोअर बैक पेन के लिए कुछ योगासन भी बहुत महत्वपूर्ण हैं जिनको अगर आप अपनी दिनचर्या की हिस्सा बना लेते हैं तो आपको कभी भी लोअर बैक पेन की समस्या नहीं आएगी. जैसे भुजंगासन, धनुरासन, पवनमुक्तासन, सुप्तासन, हस्तपादासन, सुखासन आदि. शुरू में आप किसी योग टीचर की मदद लीजिये. जब आपको अच्छी तरह से ये आसान आ जाए तो अपने आप करते रहे.

विडियो देखे >>