बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के मोटापा, हार्ट ब्लॉकेज और ब्लड प्रेशर का आसान इलाज

362

कई लोगों को ब्लड प्रेशर(बी पी) हाई या लो की शिकायत होती है वैसे तो बी, पी. का कम या अधिक हो जाना एक काल्पनिक चीज है लेकिन अगर यह बात आपके दिमाग में बैठ ही गयी है तो यदि आपको लग रहा है या डॉक्टर्स कह रहे हैं तो बाग़भट्ट जी के अनुसार आपके रक्त की अम्लता बढ़ी हुयी है

अब यदि रक्त की अम्लता यानि एसिडिटी बढ़ी हुयी है तो क्षारीय चीजें अधिक खाएं सबसे अच्छी क्षार की चीज है मैथी, मैथी की सब्जी या फिर मैथीदाना दोनों में से कोई भी चीज खा सकते है दूसरी क्षार वाली चीज है गाजर और तीसरी चीज है कोई भी बिना पानी वाला फल या दुसरे शब्दों में कहें तो कोई भी ऐसा फल जिसमे जूस न हो जैसे की सेब या केला, अमरुद ये सब क्षारीय हैं

सब्जियों में पालक क्षारीय है बैंगन क्षारीय है लोकी और कच्ची दूदी, दूदी का रस पीयें तो और भी अच्छा है ये सब क्षारीय हैं आलू न क्षारीय है न अम्लीय ये न्यूट्रल है जो सब्जी या मसाले क्षारीय हैं, लोकी से क्षारीय कोई चीज नहीं.  बी. पी. के रोगी को उन्ही चीजों का सेवन करना चाहिए इससे एसिडिटी कम होगी तो ब्लड प्रेशर कम होगा तो ट्राईग्लिसराइड कम होगा, मोटापा कम होगा और अम्लता से होने वाले सारे रोग कम होंगे आपके

कैसे खाएं मैथी दाना

एक गिलास गर्म पानी में रात को 1 चम्मच मैथीदाना डालें और सुबह होने पे इसे चबा चबाकर खाएं इससे आपके मुँह में बहुत तेजी से लार बनने लगेगी जो कि क्षारीय होती है और पेट में जाने के बाद एसिडिटी को कम करेगी

गाजर कैसे खाएं

गाजर को कदू कास कर लें और हर रोज सुबह खाली पेट, पेट भरकर खाएं यह लगातार 3 महीने तक करें उसके बाद अगले 3 महीने तक 2-3 आंवला रोज खा सकते हैं फिर अगले 3 महीने तक गाजर खाएं आयुर्वेद के अनुसार 3 महीने से ज्यादा कोई भी चीज लगातार नही खानी चाहिए.

और मैथी की सब्जी खाएं, पालक की सब्जी खाएं, हरे पत्ते की सभी सब्जी क्षारीय होती हैं वो ज्यादा से ज्यादा खाएं

इनका सेवन करने से ब्लड प्रेशर तो जायेगा ही साथ में कोलेस्ट्रोल कम होगा, ट्राईग्लिसराइड कम होगा, मोटापा कम होगा और उसके अंत में हार्ट अटैक कभी नही आएगा अगर कहीं खून की ब्लोकेज है तो वो भी निकल जाएगी

विडियो देखें >>