मेहँदी का ऐसा घिनौना रंग आपने पहले कभी नहीं देखा होगा

324

मेंहदी का नाम सुनते ही आपके दिमाग में क्या आता है एक ही तस्वीर ना. महिलाओं के मेंहदी के रंग से सजे सुंदर हाथ और उनसे आती मेंहदी की भीनी-भीनी सी खुशबू. लेकिन, सोशल मीडिया पर एक तस्वीर ने लोगों के होश उड़ा दिए हैं. तस्वीर में दिखाया गया है कि हथेली के जिस हिस्से में मेंहदी लगी थी वहां बड़े-बड़े छाले हैं.

घाव ने हाथ बदसूरत बना दिया है. दावा है कि ये चाइनीज मेंहदी का दिया जख्म है. क्या है चाइनीज मेंहदी के जख्मों का सच आप भी जानिए. जो मेंहदी जिंदगी में रंग भरने का काम करती है क्या वो आपको बदरंग भी बना सकती है. इससे पहले कभी ये सवाल नहीं उठे थे.

इससे पहले कभी ये सवाल पूछे नहीं गए थे. लेकिन, अब ये सवाल पूछे जा रहे हैं. सवालों के पीछे है ये तस्वीर जो डरा रही है. ये तस्वीर जो ये दावा कर रही है कि मेंहदी ने हाथों पर ये गहरे जख्म दिए हैं. फेसबुक से लेकर वॉट्सऐप तक ये तस्वीर चर्चा में हैं. दावा है कि एक खास चाइनीज मेंहदी की वजह से हाथ का ये हाल हुआ है.

अगर ये सच हुआ तो चाइनीज मेंहदी से आपको बचाना है और अगर ये झूठ हुआ तो लोगों के बीच इस तस्वीर को देखने के बाद फैल रहे डर को हमें रोकना है. एबीपी न्यूज संवाददाता रत्ना शुक्ला आनंद ने दिल्ली के बाजारों से लेकर देश के सबसे बड़े गंगाराम के डॉक्टरों तक हर मोर्चे पर इस तस्वीर की पड़ताल की है.

वायरल मैसेज में दावा किया गया है कि चाइनीज मेंहदी ने महिला के हाथ को बर्बाद कर दिया. चीन अपना जहर सालों से भारत में बेच रहा है. ये दावा एक वेबसाइट ने किया है. दूसरा दावा तो और भी डराने वाला है. लिखा है चाइनीज मेंहदी की वजह से दिल्ली की इस महिला के हाथ कटने की नौबत तक पहुंच चुके हैं.

हजारों लोग इस पर चर्चा कर रहे हैं, लेकिन लगभग 90 प्रतिशत लोग यही तस्वीर शेयर कर रहे हैं. जिसमें एक लड़की पीले रंग का टॉप और नीले रंग की जींस पहने हुए दिख रही है. हाथ पर उसी जगह घाव दिख रहा है जहां पर मेंहदी लगी हुई हो सकती है. क्योंकि घाव का डिजायन ऐसा ही है. आजकल इसी तरह की मेंहदी का चलन भी है.

लेकिन तमाम दावों के बीच असली सवाल ये है कि इस तस्वीर का सच क्या है. इस सवाल का जवाब जानने के लिए हम सबसे पहले पहुंचे दिल्ली के कनॉट प्लेस में हनुमान मंदिर के पास जहां वीर सिंह पिछले कई सालों से मेंहदी लगा रहे हैं. हमने वीर सिंह से पूछा कि चाइनीज मेंहदी होती है क्या ?

वीर सिंह ने हमें ये भी बताया कि चाइनीज मेंहदी होती है और फिर ये भी कि चाइनीज मेंहदी क्या कर सकती है. वीर सिंह ने इस महिला के हाथ में महिला के हाथ पर चाइनीज मेंहदी लगा रहे हैं. चाइनीज मेंहदी लगाने के कुछ मिनट बाद ही हाथों पर रंग बिल्कुल चोखा उतर आता है. जबकि, उसे धो भी दिया जाए.

चाइनीज मेंहदी होती है ये तो साबित हो चुका था लेकिन, अभी ये पता चलना बाकी था कि चाइनीज मेंहदी किसी को ऐसे जख्म दे सकती हैं. इस सवाल का जवाब जानने के लिए एबीपी न्यूज संवाददाता रत्ना शुक्ला आनंद गंगाराम अस्पताल के त्वचा विशेषज्ञ डॉ बारीजा के पास पहुंची. डॉ बारीजा ने हमें बताया कि आजकल हर तरह की मेंहदी में एक विशेष तरह के केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है. जिसकी वजह से मेंहदी का रंग लाल नहीं काला रचता है और काला रंग को गाढ़ा मानकर महिलाएं खुश हो जाती हैं. करवाचौथ की अगली सुबह कुछ महिलाएं डाक्टर के पास पहुंची थीं. महिलाओं ने हाथों पर मेंहदी लगवाई थी लेकिन अगले दिन उनके हाथ मेंहदी के रंग से नहीं बल्कि एलर्जी की वजह से लाल हो चुके थे और बुरी तरह सूजे हुए थे. किसी भी मेंहदी में अगर पीपीडी नाम का केमिकल मिलाया जाता है तो उसमें एलर्जी की आशंका बनी रहती है.

बड़ी बात ये है कि यही केमिकल बालों को रंगने वाली डाई में भी इस्तेमाल किया जाता है. कई बार लोगों को डाई से भी एलर्जी हो जाती है. हालात इतने बिगड़ जाते हैं उन्हें आईसीयू में भर्ती होना पड़ता है. पड़ताल में हम इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि मेंहदी से ऐसी एलर्जी हो सकती है.

इस विडियो में देखिए