जाने दूध से ज्यादा कैसे बेस्ट है दही

702

कहते हैं किसी भी शुभ काम की शुरुआत से पहले दही खाने से उस काम के लिए जाने वाले को सफलता मिलती है। साथ ही, दही को सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. इसमें कुछ ऐसे रासायनिक पदार्थ होते हैं, जिसके कारण यह दूध की तुलना में जल्दी पच जाता है. जिन लोगों को पेट की परेशानियां, जैसे अपच, कब्ज, गैस बीमारियां घेरे रहती हैं, उनके लिए दही या उससे बनी लस्सी, छाछ का उपयोग करने से आंतों की गर्मी दूर हो जाती है.

दही दूध से ज्यादा फायदेमंद इसलिए है क्यूंकि दूध को पचाने वाले एंजाइम सिर्फ रात को ही शरीर में सकिर्य होते हैं इसलिए दूध रात में ही पीएं. लेकिन दही को हम किसी भी समय खा सकते हैं.

जाने दूध से ज्यादा कैसे सेहत के लिए बेस्ट है दही >>

पानी – दही में पानी की मात्रा दूध के मुकाबले कम होती है. इससे कम मात्रा में ज्यादा न्युरीयंट्स मिलते हैं.

प्रोटीन – दूध के मुकाबले दही में प्रोटीन ज्यादा होता है. ये मसल्स बिल्डिंग में हेल्पफुल होता है.

कैलोरी – दूध के मुकाबले दही में ज्यादा कैलोरी होती है. इससे एनर्जी मिलती है.

कोर्ब्स और शुगर – दूध के मुकाबले दही में कोर्ब्स और शुगर कम होती हैं. इससे शुगर और वेट बढ़ने की सम्भावना कम होती है.

हेल्दी फैट – दूध के मुकाबले दही में हेल्दी फैटस ज्यादा होते हैं.

कितना दही लेना चाहिए – हर एक व्यक्ति के हिसाब से डाइट बदल सकती हैं फिर भी एक दिन में लगभग 250 ml  दही लेना ठीक है.

दही कब खाना फायदेमंद है – वैसे तो दही कभी भी खाया जा सकता है लेकिन दोपहर 2 बजे के पहले खाने से ज्या फायदा रहता है.

दही खाने के आयुर्वेदिक नियम >>

आयुर्वेद के अनुसार दही में नमक मिलाकर खाने से उसमें मौजूद सारे जीवाणु नष्ट हो जाते हैं जो जीवाणु हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं. इसलिए दही में नमक मिलाकर नही खाना चाहिए.

दही में जितना मीठा डालेंगे ये जीवाणु उतने ही संख्या में स्किर्य होते हैं. इसलिए दही में बुरा, मिश्री या गुड मिलाकर खाने से बहुत फायदा होता है. चीनी डालकर न खाएं क्यूंकि चीनी सफ़ेद जहर होता है.