हाथ भी देते हैं बिमारियों के संकेत, इन प्रॉब्लमस को इग्नोर न करें

480

हमारे शरीर में विभिन्न अंगों में चेंज आना कई तरह की बिमारियों का संकेत देती हैं जैसे चेहरे में बदलाव, आँखों में बदलाव आदि, पैरों में बदलाव. ऐसे ही हमारे हाथ भी कई तरह की कमी या बिमारियों का संकेत देते हैं, इन बिमारियों या कमियों के आने से हाथों में कई तरह के बदलाव आना शुरू हो जाते हैं तो जाने ऐसे ही बिमारियों के कुछ संकेत जो हाथ में बदलाव अ कारण बनती हैं.

स्किन पर पपड़ी आना – स्किन ड्राई होने लगे और इस पर पपड़ी आने लगे तो बॉडी में विटामिन B की कमी हो सकती हैं.

नाख़ून टूटना – नाख़ून जल्दी जल्दी टूटते हैं तो ये बॉडी में जिंक की कमी हो सकती हैं. जिंक स्किन के नई सेल्स बनाने में मदद करता हैं.

हाथ कांपना – कुछ मेडिसिन्स जैसे एंटीडिस्प्रेसेंट, अस्थमा की दवा की वजह से भी ये प्रॉब्लम हो सकती हैं. ज्यादा सीरियस होने पर ये नर्वस सिस्टम की प्रॉब्लम भी हो सकती हैं.

नाखून का रंग पीला या सफ़ेद होना – इसमें ओक्सिजन ठीक से स्किन सेल्स तक नही पहुँच पाती. नाखून पर सफ़ेद धब्बे हों तो ये ट्रिवियल स्ट्रेस हो सकता है.

नाखून सॉफ्ट होना – बहुत ज्यादा सॉफ्ट नाखून बॉडी में कैल्शियम की कमी दिखाते हैं.

हथेली पर रेड पैच – अगर हथेली पर रेड पेचेस आने लगें तो ये लीवर की प्रॉब्लम हो सकती है.

खुजली होना – मोइस्चराइजर से स्किन ठीक नही हो पाए तो ये एक्सिमा हो सकता है. इसमें स्किन पर रेशेज और खुजली होती है और ये फट भी जाती है.

नाखून पर डार्क स्पॉट – नाखून पर डार्क निशान आ रहे हों तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं. ये स्किन कैंसर का खतरा हो सकता है.