आयुर्वेद के अनुसार फॉलो करें दूध पीने के ये नियम, बीमार होना भूल जाएंगे

241

दूध में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, कैल्शियम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और पोटैशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। इनसे बॉडी को कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स मिलते हैं। लेकिन अगर आयुर्वेद में दिए गए नियमों के अनुसार इसे अलग-अलग चीजों के साथ पीते हैं तो कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स को कंट्रोल किया जा सकता है।  आयुर्वेद के अनुसार दूध का कैसे करें यूज और इससे कौन-कौन सी प्रॉब्लम्स कंट्रोल होंगी।

एक्सपर्ट का कहना है कि वैसे तो दूध में पर्याप्त न्यूट्रिएंट्स होते हैं जो हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद हैं। लेकिन आयुर्वेद के नियमानुसार दूध को दूसरे फूड के साथ मिलाकर पीने से इसके न्यूट्रिएंट्स और बढ़ जाते हैं। ये कॉम्बिनेशन बॉडी को पाइल्स, कब्ज, एसिडिटी, नींद न आना जैसी प्रॉब्लम्स से बचाते हैं।

दूध पीने के नियम और उसके फायदे

सोने से पहले एक गिलास गुनगुने दूध में 7 से 8 मुन्नके डालकर पियें कब्ज की प्रॉब्लम दूर होगी

एक गिलास ठन्डे दूध में एक चमच्च मिश्री मिलकर पीयें इससे एसिडिटी दूर होगी

आधा आधा गिलास दूध और पानी मिलकर पीयें इससे पेशाब की जलन दूर होगी

एक गिलास गुनगुने दूध में 7 से 10 मुन्नके और एक अंजीर मिलकर पीयें पाईल्स की प्रॉब्लम दूर होगी

रेगुलर एक गिलास गुनगुने दूध में आधा चमच्च बादाम तेल मिलकर पीयें मेमोरी पावर बढेगा

एक गिलास ठंडा दूध पीयें छालों की प्रॉब्लम दूर होगी

एक गिलास गुनगुने दूध में चुटकीभर सोंठ मिलकर पीयें कफ से राहत मिलेगी और  एनर्जी लेवल बढेगा

रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुने दूध में आधा चमच्च अश्वगंधा मिलकर पीयें अच्छी नींद लाने में हेल्प मिलेगी इससे ब्लड सर्कुलेशन सुधरेगा और स्ट्रेस दूर होगा