दूध पीने के कुछ ऐसे नियम जिससे पुरुषों और महिलाओं दोनों को होगा फायदा

1458

आमतौर पर लोग सुबह दूध पीते हैं। लेकिन सुबह दूध पीने के बजाय अगर रात में दूध पिएं तो सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है. क्यूंकि हमारे शरीर में रात को कुछ ऐसे होरमोंस सकिर्य होते हैं जो दूध को पचाने का काम करते है, जो कि सूर्य की धुप रहने तक शरीर में सकिर्य नही हो पाते. ऐसे ही दूध से जुडे़ कई नियम हैं जिनके बारे में जानकर दूध के पर्याप्त फायदे बॉडी को मिल सकें. दूध पीने के 7 नियम, इन्हें फॉलो करने से जेंट्स और लेडीज दोनों को फायदा होता है.

सुबह उठकर दूध न पीयें – शुबह उठाकर दूध पीने से पेट में एसिड का लेवल बैलेंस नही हो पता है. एसिडिटी या कफ की प्रॉब्लम हो सकती है.

रात में ही पीयें – दूध हमेशा रात में ही पीना चाहिए. इसमें मौजूद एमिनो एसिड से दिमाग शांत रहता है. रात में नींद अच्छी आती है. रात में ही शरीर में सकिर्य होरमोंस दूध को पचाते है.

खाने के बाद न पीयें – खाना खाने के तुरंत बाद दूध न पीयें. इससे इनडाईजेशन हो सकता है. खाने के दो घंटे बाद दूध पीने से फायदा होगा.

कैसा दूध पीयें – हमेशा गुनगुना दूध ही पीयें. एसिडिटी या अल्सर की प्रॉब्लम हो तो दूध ठंडा करके पी सकते है.

क्या डालें दूध में – दूध में शक्कर डालकर न पीयें. इसकी बजे किशमिश, खजूर, मुनक्का या मिश्री मिलकर पीने से फायदा होता है.

कई लोगों का दूध पीने से डाईजेशन ख़राब हो जाता है. ऐसे लोग दूध में सौंठ, अदरक या पिपली मिलकर पीयें.

दूध में अदरक, लौंग, इलायची, केसर या दालचीनी मिलकर पीने से पेट की प्रॉब्लम दूर होती है. दूध आसानी से डाईजेस्ट होता है.