गर्मी के मौसम में व्रत में भी फुर्ती से भर देगा ये ठंडा जूस ! घर पर ही बनेगा, ये है बनाने की विधि

17999

रस चाहे फलों का हो या सब्जियों का दोनों ही लाभदायक हैं। रस पीने से शारीरिक व मानसिक कमजोरी दूर होती है और शरीर स्वस्थ रहता है। बीमारी की स्थिति में रस पीने से रोग जल्दी ठीक हो जाते हैं। कच्ची साग-सब्जी एवं फलों के रस के सभी पी सकते हैं। कमजोर रोगियों को भाप से पकाई हुई सब्जियों का रस देना लाभकारी होता है। रसों में जीवन पोषक तत्व होते हैं जो आसानी से खून में मिल जाते हैं। इससे पाचन अंगों पर भार नहीं पड़ता है। रस के समर्थकों का कहना है कि रस से ही हमारा शरीर साफ होता है, पानी की मात्रा ज्यादा होने के कारण ये पचने में हल्के होते हैं और हमारी किडनी के लिये भी लाभकारी होते हैं

आगे देखे इस रस को बनाने की सामग्री और आसान विधि >>

5 गिलास तरबूज का शरबत बनाने की सामग्री :- 
तरबूज – 2- 21/2 किग्रा.
नीबू – 1
आइस क्यूब – 1 कप
पुदीने की पत्ती
शक्कर- स्वादानुसार

शरबत बनाने की विधि : 
सबसे पहले तरबूज को धोकर टुकड़ों में काट लीजिए। काटने के बाद तरबजू के मोटे हरे छिलके निकाल कर अलग कर लीजिए। अब बच गए अंदर के लाल हिस्से के इतने छोटे टुकड़ों में काट लीजिए कि मिक्सर में आसानी से समा जाए। अब सारे तरबूज को मिक्सर में डाल कर अच्छे से पीस लें। थोड़ी ही देर में इसके पल्प और रस एकदम अच्छे से घुल जायेंगे। अब इसे वहां से निकाल कर एक छलनी में छान लें।

जूस का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें एक नींबू का रस निचोड़ लें साथ ही इसमें आइस क्यूब डाल कर इन्हें अच्छे से मिक्स कर लें। आप चाहें तो इसमें पुदीना की पत्तियां भी डाल कर इसका टेस्ट बढ़ा सकते हैं। जूस में शक्कर डाल कर इसे आप चाहें तो अधिक मीठा कर सकते हैं। तरबूज का ठंडा शरबत बन कर तैयार है। गर्मियों में व्रत में इसके सेवन से बड़ी राहत मिलेगी।