लौकी का जूस पीने के कई फायदे है जो अपने कभी नहीं सुने होंगे

15875

लौकी बाहर से हरी और अन्दर से सफेद होती है। इसका स्वाद फीका होता है। लंबी लौकी शरीर में खून को बढ़ाती है और जोश पैदा करती है। इसके उपयोग से पेट के विकार दूर होते हैं, पेशाब की मात्रा बढ़ती है और दिल में तरावट व शीतलता पैदा होती है। इसका प्रयोग गर्मी के बुखारों के लिए लाभकारी है और पुराने बुखार को दूर करती है। इसकी सब्जी बहुत अच्छी बनती है। इसके सेवन से दिल और मेदा (आमाशय) की गर्मी शांत होती है।

भले ही आपको लौकी का जूस पसंद न हो लेकिन आप इसके फायदे को नजरअंदाज नहीं कर सकते। यह आपके शरीर में विटमिन बी, विटमिन सी, आयरन और सोडियम की कमी को पूरा करता है। लो कैलरी वाले इस जूस को अगर आप रोज एक कप भी पिएं तो आपको जल्द ही फर्क नजर आने लगेगा। आगे जानें इसके फायदे…

खून की कमी होगी दूर – लौकी के जूस में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो शरीर में खून की कमी को दूर करता है।
तेजी से घटेगा वजन – क्या आपको मालूम है कि लौकी के जूस में कैलरी और फैट बहुत कम होता है इसलिए जो लोग वजन घटाना चाहते हैं उनके लिए ये बहुत फायदेमंद साबित होता है।
सनटैन से छुटकारा – अगर आप चाहते हैं कि आप सनटैन से बचे रहें, तो भी लौकी का जूस आपके काम आ सकता है। इसके नैचरल ब्लीचिंग तत्व टैन त्वचा को लाइट करते हैं।

शरीर को डिटॉक्स करे – खाली पेट एक ग्लास लौकी का जूस पीने से आपको ताजगी और एनर्जी महसूस होती है। जूस में 98% पानी और ऐंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं जो शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकाल देते हैं। इसे पीने से शरीर को ठंडक भी मिलती है।
कब्ज से दिलाए राहत – अगर आपको कब्ज की शिकायत रहती है तो सुबह लौकी का जूस पीने की आदत डाल लें।
वर्कआउट के बाद पीना फायदेमंद – वर्कआउट के बाद जिस प्रोटीन शेक को पीते हैं, उसकी जगह एक कप लौकी के जूस को पीकर देखिए। लौकी के जूस में मौजूद नैचरल शुगर न सिर्फ ग्लाइकोजीन के स्तर को बनाए रखती है बल्कि वर्कआउट के दौरान शरीर में कार्बोहाइड्रेट की कमी को भी पूरा करती है। इसमें प्रोटीन काफी मात्रा में होता है इसलिए ये मांसपेशियों की क्षमता भी बढ़ाता है।
सावधानी भी जरूरी – केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बनी विशेषज्ञ समिति ने इसको लेकर वॉर्निंग भी जारी की है। उसका यह भी कहना है कि जूस निकालने से पहले लौकी का एक छोटा टुकड़ा काटकर उसे चख लेना चाहिए। अगर वह कड़वा हो तो लौकी का किसी भी रूप में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। यह खतरनाक हो सकता है। समिति का यह भी कहना है कि सामान्य लौकी के जूस को भी किसी भी सब्जी या फल के जूस में मिलाकर नहीं पीना चाहिए। लौकी का जूस पीने के बाद अगर किसी को बेचैनी, चक्कर या उल्टी-दस्त की शिकायत हो तो उसे तुरंत नजदीकी अस्पताल ले जाना चाहिए ।