भूलकर भी न करें ये 5 गलतियां, हो सकती है सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज

1287

फिजिकल रिलेशन में सावधानी न बरतने के अलावा भी कई ऐसी गलतियां होती हैं जो सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज यानी STD की वजह बन सकती हैं। इन बीमारियों को आम भाषा में यौन रोग या गुप्त रोग भी कहते हैं. डर्मटोलॉजिस्ट के मुताबिक प्राइवेट पार्ट्स की साफ सफाई का ध्यान न रखना, इन्फेक्टेड व्यक्ति की लार, स्किन, ब्लड, सीमेन वगैरह के संपर्क में आने से STD हो सकती है.

क्या होती हैं STD यानी सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज? (यौन रोग होने के कारण)

सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज आमतौर पर किसी बैक्टीरियल या वायरल डिजीज से इन्फेक्टेड परसन के साथ अनसेफ फिजिकल रिलेशन बनाने पर होती हैं. डॉ. का कहना है कि अगर समय पर इलाज न किया जाए तो STD प्राइवेट पार्ट्स से बढ़कर हार्ट, किडनी, लंग्स और लिवर जैसे दूसरे ऑर्गन्स को प्रभावित कर सकती हैं और इनसे जान भी जा सकती है.

जो एक से ज्यादा पार्टनर के साथ फिजिकल रिलेशन बनाते हैं.

जो ऐसे पार्टनर के साथ फिजिकल रिलेशन बनाते हैं. जिसके कई लोगों से सम्बन्ध हैं.

जो फिजिकल रिलेशन के दौरान कंडोंम का यूज नही करते हैं.

जो कई लोगों द्वारा यूज होने वाले इंजेक्शन के जरिये ड्रग्स लेते हैं.

जो अप्राकृतिक तरीके से फिजिकल रिलेशन बनाते हैं.

क्या हैं गुप्त रोगों के लक्षण?

क्लैमाइडिया (बैक्टीरियल STD) – यूरिन में दर्द, खून या पस का डिस्चार्ज होना, टेस्टिक्लस में सुजन

सिफलिस (बैक्टीरियल STD) – शुरूआती स्टेज में खुजली, जलन, रैशेज, थकान, गले में सुजन, सिरदर्द

गोनोरिया (बैक्टीरिया STD) – यूरिन करते समय दर्द, ग्रीन, व्हाइट या यलो डिस्चार्ज, टेस्टिकल्स में सुजन

हेपेटाइटिस B (वायरस STD) – बुखार, जलन, मसल और जॉइंट पेन, उल्टी का अहसास, भूख न लगना, पीलिया

ह्युमन पैपिलोमा वायरस HPV (वायरस STD) – पेनिस में फुंसियाँ, सुजन, जलन और दर्द

हर्पीज (वायरल STD) –  खुजली, जलन, फुन्सिया, सुजन, भूख न लग्न, बुखार, थकान, कमजोरी

कैसे करें STD  से बचाव – एक ही पार्टनर से रिलेशन रखें. प्रिकासन्स यूज करें. प्राकृतिक तरीके से ही सम्बन्ध बनाएं. रेगुलर चेकअप करवाएं.