क्या होता है टॉयलेट में बैठने का सही तरीका? इस तरीके से बैठना है खतरनाक

1731

क्या आप भी वेस्टर्न टॉयलेट का यूज करते हैं? इसमें आप कैसे बैठते हैं? दरअसल टॉयलेट में गलत तरीके से बैठने पर आपको बवासीर, कब्ज, और हार्ट अटैक जैसी प्रॉब्लम तक हो सकती हैं.

कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) में डिप्टी डायरेक्टर और नाक, कान, गला विशेषज्ञ डॉ.  का कहना है कि टॉयलेट में सही तरीके से न बैठने पर बॉडी में कई प्राब्लम होती हैं.

यदि आप वेस्टर्न टॉयलेट का भी यूज करते हैं तो इसमें सही बैठने के कुछ तरीके हैं. जैसे आप टॉयलेट सीट में बैठते वक्त पैरों को थोड़ा ऊंचाई पर रख लें तो बॉडी की पोजिशन सही हो सकती है.

90 डीग्री की पोजीशन में बैठने से आपकी आंत का नेचुरल पैसेज गड़बड़ हो जाता है.

ऐसी पोजीशन में लगातार बैठने से आपको कब्ज, बवासीर और कोलन कैंसर तक की बीमारी हो सकती है.

कई लोग घंटो तक इस पोजीशन में बैठे रहते हैं.

90 डीग्री में बैठने पर बॉडी का यह हिस्सा डिफेक्ट (टेडा) हो जाता है. ऐसे में ज्यादा ताकत लगाना पढता है.

ज्यादा ताकत लगाने से शरीर में अंदर जो बृहदांत्र की दिवार होती है. उसे नुकसान पहुँच सकता है.

इससे कोलन कैंसर हो सकता है.

देखिये टॉयलेट में बैठने का सही तरीका >>

इस पोजीशन में बॉडी का हर हिस्सा अपनी नेचुरल पोजीशन में ही होता है.

उकडू होकर बैठने का दूसरा फायदा ये है की इससे जांघे बिल्ड होती है.

जिम में स्कवेट लगाकर 35 डिग्री कई लोग यह काम करते है.

इसमें यह पार्ट सीधा होता है और ज्यादा ताकत नही लगानी पड़ती.

टॉयलेट सीट के सामने पैरों को थोडा ऊंचाई पर रखकर भी आप बैठ सकते है.