इजरायल ने हवा और पानी के साथ ऐसा कुछ ऐसा अविष्कार किया है कि पूरी दुनिया की नजर अब इनपर है

5264

हवा से पानी निकालने की बात पुरानी हो चुकी है। पानी का संरक्षण और शुद्धिकरण प्रक्रिया को अपनाते हुए उसे दो बार तक इस्तेमाल के लायक बनाने की बात भी नई नहीं है। समुद्री पानी को पेयजल में बदलने की तकनीकी भी दुनिया के पास है। तथ्यात्मक रूप से देखें तो ये सभी वैज्ञानिक उपलब्धियां करीब 20 साल पुरानी हैं। इजरायल ने इनके अतिरिक्त भी कई उपलब्धियां हासिल की हैं, वो भी एक ऐसे देश के रूप में जहां की अधिकतर भूमि बंजर है, जहां पानी और पानी के प्राकृतिक स्रोतों की हमेशा से कमी रही है। विपरीत परिस्थितियों के बावजूद बंजर भूमि को उपजाऊ बनाकर खेती करना इस देश की सबसे बड़ी उपलब्धि है। अपनी प्रौद्योगिकियों की बदौलत ही आज की तारीख में इजरायल पानी संबंधित हर चुनौतियों को पार कर चुका है। यही वजह है कि पानी की कमी को दूर करने और पानी की गुणवत्ता में बढ़ोतरी करते हुए ही यह देश जल संरक्षण के क्षेत्र में एक क्रांतिकारी उपलब्धि हासिल कर चुका है।

इस विडियो में देखिए इजरायल में खेती >>

तो यह है कि प्राचीनकाल से ही इजरायल बंजर भूमि की वजह से आजीविका का उत्पादन करने को लेकर चुनौतियों का सामना कर रहा है। 67 साल पहले स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद से ही इजरायल पानी की आपूर्ति की बढ़ोतरी करने में जोर-शोर से जुट गया और अपनी अधिकतर बंजर भूमि को कृषि योग्य उपजाऊ भूमि में बदल दिया। इन प्रयासों की बदौलत ही इजरायल दुनिया में अधिकतम पैदावार कर पाता है और पानी के धनी देशों के समानांतर आता है। इस सफलता की कहानी के पीछे सरकार, कारोबारियों, शिक्षाविदों और आम जनता का एकीकृत प्रयास ही है। इस समग्र दृष्टिकोण ने ही जल संरक्षण या कहें कि जल प्रबंधन के विभिन्न क्षेत्रों में इजरायल को विशेषज्ञता हासिल करने में मदद की है।

इस विडियो में देखिए इजरायल कैसे पानी को रीसायकल करता है >>

दूसरी तरफ, रचनात्मकता और आवश्यता ने मिलकर इजरायल की वॉटर टेक इंडस्ट्री को आगे बढ़ाया है। आज की तारीख में, इजरायल का पानी उद्योग सालाना लगभग 1.4 अरब डॉलर का निर्यात करता है। निर्यात किए जाने वालों में अधिकतर उत्पाद कृषि, जल प्रबंधन और शुद्धिकरण से संबंधित हैं। इस क्षेत्र में 600 से अधिक कंपनियां कार्य कर रही हैं, जिनमें 100 से अधिक स्टार्टअप कंपनियां भी शामिल हैं। ये कंपनियां उपभोक्ताओं की जरूरतों को ध्यान में रखककर उत्पादों और प्रौद्योगिकियों को डिजाइन करती हैं। इनमें से कई कंपनियां भारत में कार्य कर रही हैं, जो कि अपने भारतीय सहयोगियों के साथ एकजुट होकर किसानों और उद्योगों को जल संबंधित समस्याओं का समाधान उपलब्ध कराती हैं, साथ ही पेयजल की गुणवत्ता में बढ़ोतरी करती हैं। ऐसे में इजरायल जल प्रबंधन के मामले में भारतीय किसानों और अन्य उपभोक्ताओं के लिए जादू ही कर रहा है।

इस विडियो में देखिए इजरायल के संबंध में भारतीयों का अनुभव >>

"इजरायल ने मुझे सिखाया है चुनौतियों और संकट के बावजूद जीवन में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए।"भारत के प्रधानमंत्री Narendra Modi की आगामी इजरायल यात्रा (जुलाई 4-6) के लिए, हमने भारतीय नागरिक स्मिता, कंदर्प और रॉय को, जो वर्तमान में इजरायल में अध्ययन और काम कर रहे हैं, हमारे साथ अपने अनुभव को साझा करने को कहा। देखिये इस वीडियो में:

Publicado por इजरायल हिंदी में em Domingo, 2 de julho de 2017