इसमें रोगी की जान तक जा सकती है, अगर सही समय पर पीलिया का इलाज नहीं किया

974

पीलिया लीवर से सम्बंधित रोग है, इस रोग में रोगी की आँखे पीली पड़ जाती हैं, पेशाब का रंग पीला हो जाता है, अधिक तीव्रता होने पर पेशाब का रंग और भी खराब हो जाता है, पीलिया दिखने में बहुत साधारण सी बीमारी लगती है, मगर इसका सही समय पर इलाज ना हो तो ये बहुत भयंकर परिणाम दे सकती है, इसमें रोगी की जान तक जा सकती है.पीलिया पुराना हो या नया घरेलू देसी नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा से आप इसका उपचार कर सकते है. इस बीमारी से छुटकारा पाने में इलाज के साथ परहेज करना भी जरुरी है और जैसे ही पीलिये के लक्षण आपको दिखने लगे इसका उपचार शुरू करे.पीलिया तीन तरह का होता है, हेपेटाइटिस सी (काला पीलिया), हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस ए.इस लेख में हम जानेंगे.

पीलिया के लक्षण : इसके लक्षण शुरुआत में दिखाई नहीं देते पर ये रोग जब बढ़ जाता है, तब मरीज की आँखे और नाख़ून पीले पड़ जाते है, इसके इलावा पेशाब पीले रंग का आने लगता है और खाना ठीक से नहीं पचता.इसके इलावा कुछ और लक्षण भी है जिनसे पीलिया की पहचान कर सकते है, जैसे बुखार आना, सिर दर्द होना, आँखे दर्द होना, भूख कम लगना, उल्टी आना और जी मचलन, कमज़ोरी आना और जल्दी थकान आना.

पीलिया के कारण : इंफेक्शन होने से लिवर कमज़ोर होने से, शरीर में ब्लड की कमी होने से, सड़क किनारे कटी, खुली और दूषित चीज़े खाने से, तले और वसायुक्त आहार, अत्यधिक मक्खन और सफाईयुक्त मक्खन, माँस, चाय, कॉफ़ी, अचार, मसाले और दालें आदि सभी वसा जैसे घी, क्रीम और तेल.

पीलिया का इलाज के घरेलू उपाय और नुस्खे : प्याज छील कर इसे बारीक़ काटे फिर पीसी हुई काली मिर्च, थोड़ा काला नमक और नींबू का रस इसमें मिलाकर हर रोज दिन में सुबह शाम सेवन करे, ताजा मुल्ली के हरे पत्ते पीस कर रस निकाले और इसे छान कर पिए.इस उपाय से मरीज के जिगर की कमजोरी दूर होती है, पेट की आंते साफ़ होती है और भूख लगने लगती है, जॉन्डिस के मरीज को प्रतिदिन ताज़ा गन्ने का जूस पीना चाहिए इससे पीलिया से जल्दी राहत मिलती है, लहसुन की तीन से चार कलियाँ पीस कर इसे दूध के साथ ले, इससे पीलिया का जड़ से इलाज होता है और लिवर को ताकत मिलती है, चने की दाल रात को पानी में भिगो कर रखे. सुबह इसमें से पानी निकाल ले और गुड़ मिलाकर खाए.लगातार कुछ दिन इस नुस्खे को करने पर जॉन्डिस में राहत मिलती है, पीलिया के मरीज को गाजर और गोभी का रस बराबर बराबर मिलाकर एक गिलास पिए. इस जूस को कुछ दिन लगातार पीने पर पीलिया से जल्दी आराम मिलता है, निम्बू का रस पीलिया में काफी फायदेमंद है.पीलिये से ग्रस्त मरीज को प्रतिदिन नींबू का रस पंद्रह से बीस एम एल दो से तीन बार पीना चाहिए.नींबू की शिकंजी बना कर पीना भी अच्छा है.

विडियो देखे >>