10 रुपये की ये चीज आँखों की रौशनी बढ़ाकर दिमाग को बना देगी सुपर कंप्यूटर

3144

आज हम चूना खाने के फायदे के बारे में बताएँगे। हम आपको ऐसे नुस्खे की जानकारी देने का प्रयास कर रहे है जिनका उपयोग आज से नहीं बल्कि सदियों से चला आ रहा है। कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे जिनका प्रयोग हमारे पूर्वज अपनी समस्या हेतु करते थे। लेकिन अब समय के साथ बहुत कुछ बदल गया है। आज हम घरेलू नुस्खों पर नहीं बल्कि दवा पर अधिक विश्वास करते है लेकिन फिर भी पुराने लोगों की तुलना में अस्वस्थ ज्यादा है। एक बात का ध्यान रखिए हम आपको नुस्खे की जानकारी दे रहे है किसी दवा की नहीं। एक ही नुस्ख़ा दो व्यक्तियों में अलग-अलग प्रभाव दे सकता है।

पूरा पोस्ट ध्यान से पढ़े और विडियो भी देखे 

सफेद रंग का वो चूना जिसका उपयोग पान में किया जाता है। यह शारीरिक और मानसिक विकारों को दूर करने में सक्षम है। साथ ही चूना खाने के फायदे और कई स्वास्थ्य लाभ भी है। चूने को यूँ ही अमृत नहीं कहाँ जाता! इस एक चूने से 70 बीमारियों का इलाज आज भी संभव है। यह कैल्शियम का सबसे बड़ा स्त्रोत है। अगर इसका उपयोग सही मात्रा व सही तरीके से किया जाए तो यह कठिन से कठिन बीमारियों को दूर करने में आज भी सक्षम है।

भोपाल जैसे कई शहरों में जहाँ पानी में कैल्शियम की कमी है वहाँ चूने के द्वारा इसकी पूर्ति की जाती है। यह अपने कठोर गुण के कारण सदियों से विभिन्न कार्यो में प्रयोग किया जा रहा है। आयुर्वेद में भी इसके गुणों की अनेकानेक चर्चा मिलती है।

कितनी मात्रा में और कैसे करे चूने का सेवन

गेहूँ के एक दाने के बराबर ही प्रतिदिन चूने का सेवन करे इससे ज्यादा नहीं। खाली पेट इसका सेवन अति उत्तम है। गन्ने के रस में, संतरे के रस में नहीं तो सबसे उत्तम अनार के रस में इसका सेवन किया जा सकता है। किसी भी रस की उपलब्धि ना हो तो दही, लस्सी, दाल, भोजन, दूध, फल या सबसे सरल पानी के साथ इसका सेवन कर सकते है।

अगर आपमें खून की बहुत कमी है तो एक कप अनार के जूस में चूना मिलाकर खाली पेट कुछ दिन सेवन करे इससे शरीर में बहुत जल्द खून बनता है।

जो भारतीय सिर्फ चूना लगा पान खाते है वे सच में बहुत चतुर है ऐसे लोग महर्षि वाग्भट के अनुयायी है। पान बिना तंबाकू, सुपारी और कत्थे के खाना चाहिए। तंबाकू जहर है तो चूना अमृत और कत्था कैंसर देता है जबकि चूना रोगमुक्ति।

अगर पान खाना आपका शौक है तो पान में केसर, लौंग, सौंठ, इलायची, चुटकीभर चुना, गुलकंद, पीपरमेंट, कसा नारियल, सौंफ आदि डालकर खाए।

सावधानी – अगर आप पथरी की समस्या से पीड़ित है तो चूना किसी भी रूप में ना ले। ऐसे रोगियों के लिए यह नुकसानदायक है।

चूना खाने के फायदे

मस्तिष्क के लिए – चुना पढ़ने वाले बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसे दही, पानी या दाल के साथ सेवन कर सकते हैं. यदि आप पढने वाले बच्चों के लिए चुने के पाउडर को अनार के जूस के साथ देते हैं तो यह उनके लिए बहुत फायदेमंद है. इसके अलावा, मानसिक रूप से कमजोर लोग भी खाने के साथ चूने के पाउडर का सेवन कर सकते हैं.

बढ़ाए बच्चों की लम्बाई

यह बच्चों की लम्बाई बढ़ाने में भी सहायक होता है. इसे आप दही या दाल में चावल के आकार के बराबर चूना को मिलाकर इस्तेमाल करें. ऐसा करने से आपके बच्चों कि लंबाई बढ़ सकती है.

दूर रखे हड्डियों की समस्या

हड्डी तथा मेरुदण्ड से संबंधित विकारों को दूर करने के इलाज के लिए रोगी को गन्ना के रस, दाल, दही और अन्य खाने योग्य व्यंजनों के साथ चूना पाउडर का उपयोग करना चाहिए. रीढ़ की हड्डी से संबंधित सभी समस्याओं को चूने के पाउडर से ठीक किया जा सकता है. इसके लिए दाल या फल के फलों के रस के साथ चूने के पाउडर का सेवन करें. हड्डियों की कमजोरी और दर्द से ग्रस्त व्यक्ति गन्ना, संतरा या अनार का रस के साथ चूना पाउडर ले सकते हैं. हड्डियों के टूटने के दौरान शरीर को अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होती है.

गर्भवती महिलाओं के लिए

प्रेगनेंट महिलाओं को अनार के जूस के साथ चूने के पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए. यह प्रेगनेंट महिला और उनके होने वाले बच्चे दोनों के लिए सेहतमंद माना जाता है. इसके सेवन से गर्भ में पल रहे बच्चे का दिमाग तेज होता है और वो स्वस्थ रहता है. इसके सेवन से डिलिवरी बहुत आरामदायक होती है और गर्भावस्था के दौरान और गर्भावस्था के बाद मां और बच्चा दोनों रोग मुक्त रहते हैं.

घुटने के दर्द में

घुटने के दर्द से पीड़ित व्यक्ति भी चूने के इस्तेमाल से राहत पा सकते हैं. घुटने के दर्द से ग्रस्त व्यक्ति गन्ना, संतरा या अनार के रस के साथ चूना पाउडर का सेवन कर सकते हैं. इसके सेवन से घुटने के दर्द से आराम मिलेगा.

दांतों के रोग

चुना दांतो के लिए भी फायदेमंद माना जाता है. यह सभी प्रकार के बिमारियों से दांतों को बचाता है और दांतों को स्वस्थ रखता है. दांत दर्द से परेशान होने पर किसी भी भोजन या पानी में चूने के पाउडर को मिलाकर सेवन कर सकते है. रोगी पान के पत्ते या पानी के साथ भी चूने का सेवन कर सकते हैं.

त्वचा के लिए

त्वचा को चमकदार बनाने के लिए शहद और चूने का पाउडर को मिलाकरचहरे पर लगाने से बहुत प्रभावी परिणाम देते है. इस फेस पैक को बनाने के लिए एक चम्मच चूना पाउडर और एक चम्मच शहद में मिलाकर चेहरे पर लगाए और 10 मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें. इसके बाद अपनी त्वचा को ताजे पानी से धो लें. यह आपको गोरा, स्वच्छ और चमकदार त्वचा प्रदान करता है. अपने चेहरे पर किल मुहांसे को ठीक करने के लिए थोड़े से चुने के साथ शहद में मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाए.

बचाए एनीमिया से

एनीमिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए भी चुना फायदेमंद है. इसे सुबह खाली पेट अनार के जूस के साथ सेवन करना चाहिए. यदि अनार का जूस मौजूद नहीं है तो आप किसी भी रस या पानी के साथ चुना पाउडर का सेवन कर सकते हैं.

पीलिया से छुटकारा

पीलिया एक लिवर की बीमारी है. जिसमें त्वचा, आँखें और नाखून पीले हो जाते हैं. चूनों का उपयोग करके आप इस रोग से छुटकारा पा सकते हैं. पीलिया के इलाज के लिए एक गिलास गन्ने के रस में चना पाउडर मिलाकर पीने से बहुत जल्दी रोगी ठीक हो जाता है. यह रोगी को नियमित रूप से दिया जाना चाहिए.

फोड़े की समस्या

फोड़े की समस्या से निजात पाने के लिए हल्दी पाउडर में चम्मच चुना मिलाकर उसे गर्म कर ले. अब हल्का ठंडा होने के बाद इसे फोड़े पर लगा कर ऊपर से एक पान का पत्ता रख कर बांध लें. आपको फोड़े की समस्या से जल्दी छुटकारा मिल जाएगा.

मा*सिक धर्म के लिए

महिलाओं की मा*सिक धर्म से संबंधित कई प्रकार की समस्याओं के इलाज के लिए चूना पाउडर अच्छा होता है. यह महिलाओं की रजो*निवृत्ति, ग*र्भावस्था और मा*सिक धर्म विकार से संबंधित सभी समस्याओं को ठीक करने में मदद करता है. 50 साल की उम्र के बाद महिलाओं में रजो*निवृत्ति की कठिनाई होने लगती है और उन्हें कैल्शियम कार्बोनेट की अधिक मात्रा की आवश्यकता होती है. चूना पाउडर रजो*निवृत्ति की सभी कठिनाइयों का इलाज करने के लिए अच्छा माना जाता है.

इस विडियो में देखिये >>