ये हैं महिलाओं के पीरियड्स से जुड़े 6 मिथ जिसे लोग मानते हैं सच

1031

अक्षय कुमार स्टारर फिल्म पैडमैन 9 फरवरी को रिलीज होने वाली है. इसमें महिलाओं के पीरियड्स से रिलेटेड कई तरह की बातें बताई गई हैं. पुराने समय से लेकर आज तक पीरियड्स के कई मिथ प्रचलित हैं. इसकी सही जानकारी लोगों को होना काफी जरूरी है. हर माह पीरियड्स आना महिलाओं के लिए काफी जरूरी होता है. अगर ये सही समय पर न होतो कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स भी होने लगती हैं. यहां पर बॉम्बे हॉस्पिटल की गायनोकोलॉजिस्ट बता रहे हैं पीरियड्स से जुड़े कुछ मिथ और उनका सच.

पीरियड के दौरान महिलाएं अशुद्ध हो जाती है – ऐसा कुछ भी नही है. यह एक नेचुरल प्रोसेस है जिसमें अनफ़र्टिलाइज्ड एग बॉडी से बाहर निकलते हैं.

पीरियड के दौरान महिला प्रेग्नेंट नहो हो सकती अगर पीरियड्स के दौरान अनसेफ तरीके से इंटरकोर्स किया जाता है तो महिला प्रेग्नेट हो सकती है.

अगर पीरियड मिस हो गया तो समझना महिला प्रेग्नेंट होना – यह जरुरी नही है कि पीरियड मिस होने पर महिला प्रेग्नेंट है. पीरियड मिस होने के कारण होते है, जैसे स्ट्रेस, ख़राब डाइट और हार्मोनल चेंजेज.

पीरियड के दौरान मंदिर या किचन नही जाना चाहिए – इसका सम्बन्ध अशुद्धता से बिलकुल नही है. इसलिए मंदिर या कीचन के अपवित्र होने का सवाल ही नही उठता.

पीरियड्स के दौरान गर्म  पानी से नही नहाना – पीरियड्स के दौरान भी गर्म पानी से नहा सकते है. ऐसा करने से मसल्स रिलैक्स होती है जिससे ऐंठन और बॉडी पेन कम होता है.

पीरियड्स के दौरान एक्सरसाइज नही करनी चाहिए – एक्सरसाइज की जा सकती है. इससे मसल्स को पर्याप्त ऑक्सीजन मिलती है मसल्स में दर्द और ऐंठन की प्रॉब्लम कम होती है.