धान-गेहूं उगाना किया बंद, अब करते है इन चीजो का उत्पादन

77180
तुलसी का अर्क निकालकर किसान बेचते है महंगे दाम पर, प्रति एकड़ सालाना आमदनी 6 से 7 लाख रूपये

ऐसाखेत जहां परंपरागत खेती नहीं होगी। एक एकड़ में छह प्रकार की तुलसी उगाई जाती हैं। तुलसी पर मंडराती तितलियां मानो कह रही हों कि ऐसे ही किसान तो होते थे हरित क्रांति से पहले। अब क्या हो गया जो सब धान-गेहूं के पीछे पड़ गए। तुलसी का अर्क निकालने के लिए कारखाना भी किसान ने अपने घर पर लगा लिया है। आर्डर मिलते ही देशभर में तुलसी का अर्क सप्लाई किया जाता है। यही नहीं खुद की पैकिंग कर किसान इसे बाजार में उतार चुके हैं। गांव में किसान की पहचान जड़ी बूटी वाले के रूप में हो गई है।

कहीं बाहर जाते हैं तो लीक से हटकर चलने बारे कई तरह के सवाल किसान पर दागे जाते हैं, जिनका वे सहजता से जवाब भी देते हैं। ये किसान हैं यमुनानगर जिला के गांव दामला निवासी धर्मवीर कांबोज। अब उनके बेटे प्रिंस ने मेडिसन पौधों से बनने वाले उत्पाद, बिक्री आदि का जिम्मा संभाल लिया है। युवा किसान का कहना है कि हमें परंपरागत फसलों की बजाए मेडिसन खेती करनी चाहिए। जो भी किसान इस तरह की खेती करते हैं उनका मुनाफा दूसरे किसानो से कहीं अधिक होता है।

> ऐसा खेत, जहां छह प्रकार की तुलसी की सुगंध
> नामी कंपनियां गांव से ले जाती हैं खरीदकर

2006 से कर रहे है जड़ी बूटी की खेती >>

प्रिंस कांबोज के अनुसार वे तुलसी टी भी बनाते हैं इससे दिमाग डेंगू में काफी लाभकारी माना गया है। यह एंटीबायटिक है और इंफेक्सन आदि को रोकती है। छोटे बच्चों को भी हम इसे दे सकते हैं। हर्बल होने के साथ-साथ कई अन्य फायदे हैं।

एलोवेरा व स्टीविया और अश्वगंधा भी उगाया >>

धर्मवीर कांबोज ने एलोवेरा, स्टीविया, अश्वगंधा उगाया है। गिलाए का रस, एलोवीरा जूस, एलोवेरा जैल, एलोवेरा सैंपू, जामुन आम पर शोध चल रहा है। जामुन, आम को डी-फ्रीजर कर सालभर बाजार में उपलब्ध कराने की योजना है।

ये है तुलसी के पोधे की किश्मे >>

कपूर तुलसी, लैमन तुलसी, वन तुलसी, मरवा तुलसी, काली तुलसी, श्याम तुलसी के पौधे करीब एक एकड़ में उगाए गए हैं। यह गत वर्ष खेत में लगाए गए थे। बीज नौनी विश्वविद्यालय से लाए थे। इनका अर्क मल्टीपपर्ज मशीन से निकाला जाता है। यह 700 से 800 लीटर तक खुला बिक जाता है। साउदी अरब से भी शेख खेत को देखने के लिए चुके हैं।

सारी जानकारी लिख पाना असंभव है ये विडियो देखिए >>

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें