अगर आपको भी यात्रा में सिर दर्द, उल्टियां, जी मचलाना जैसी समस्याएं आती हैं ये टिप्स दिलाएंगे राहत

5706

कई लोगों को कार में सफर करने के दौरान सिर दर्द, उल्टियां, जी मचलाना जैसी समस्याएं आती हैं। ऐसे में वे सफर का आनंद नहीं ले पाते और पूरे समय बस अपनी तबियत की वजह से परेशान रहते हैं। अगर आपके साथ भी ये दिक्कत रहती है तो ये टिप्स आपके लिए मददगार हो सकते हैं।

– कार में हमेशा आगे वाली सीट पर बैठें। पीछे बैठने की वजह से झटके ज्यादा महसूस होते हैं जिस वजह से सिर चकराने और उल्टियां होने लगती है। इसलिए इन सबसे बचने के लिए आगे वाली सीट पर बैठना आपके लिए फायदेमंद होगा।

– अपने रुमाल में कुछ बूंदे मिंट (पुदीना) तेल की छिड़क लें और उसे सूंघते रहें। इससे आपको आराम मिलेगा। मिंट की चाय भी ऐसे में फायदा करती है।

– जब भी कार में ट्रेवल करना हो तो उससे पहले घर से कुछ भी भारी खाकर ना निकलें। स्पाइसी, जंक फूड खाने से बचें क्योंकि इससे आपको सफर के दौरान उल्टी आ सकती है।

– कार में सफर के दौरान जी मचलाए तो खुद से या दूसरों से बातें करने लगें। इससे आपका दिमाग तबीयत से भटकेगा और आप अच्छा महसूस करेंगे।

– कार में सफर करने से पहले अदरक की टॉफी आप चबा सकते हैं। इसके अलावा घर से निकलने से पहले अदरक वाली चाय पीकर निकलने से भी आपको फायदा होगा।

आपका भी कोई दोस्त गाड़ी या बस में बैठते ही उलटी करता है? तो उसे भी बताएं ये आसान घरेलू नुस्खे…

अदरक – अदरक में ऐंटीमैनिक गुण होते हैं। एंटीमैनिक एक ऐसा पदार्थ है जो उलटी और चक्कर आने से बचाता है। सफर के दौरान जी मिचलाने पर अदरक की गोलियां या फिर अदरक की चाय का सेवन करें। इससे आपको उलटी नहीं आएगी। अगर हो सके तो अदरक अपने साथ ही रखें। अगर घबराहट हो तो इसे थोड़ा-थोड़ा खाते रहें।

प्याज का रस – सफर में होने वाली उलटियों से बचने के लिए सफर पर जाने से आधे घंटे पहले 1 चम्मच प्याज के रस में 1 चम्मच अदरक के रस को मिलाकर लेना चाहिए। इससे आपको सफर के दौरान उलटियां नहीं आएंगी। लेकिन अगर सफर लंबा है तो यह रस साथ में बनाकर भी रख सकते हैं।

लौंग का जादू – सफर के दौरान जैसे ही आपको लगे कि जी मिचलाने लगा है तो आपको तुरंत ही अपने मुंह में लौंग रखकर चूसनी चाहिए। ऐसा करने से आपका जी मिचलाना बंद हो जाएगा।.

मददगार है पुदीना – पुदीना पेट की मांसपेशियों को आराम देता है और इस तरह चक्कर आने और यात्रा के दौरान तबीयत खराब लगने की स्थिति को भी खत्म करता है। पुदीने का तेल भी उलटियों को रोकने में बेहद मददगार है। इसके लिए रुमाल पर पुदीने के तेल की कुछ बूंदे छिड़कें और सफर के दौरान उसे सूंघते रहें। सूखे पुदीने के पत्तों को गर्म पानी में मिलाकर खुद के लिए पुदीने की चाय बनाएं। इस मिश्रण को अच्छे से मिलाएं और इसमें 1 चम्मच शहद मिलाएं। कहीं निकलने से पहले इस मिश्रण को पिएं।

नींबू का कमाल – नींबू में मौजूद सिट्रिक ऐसिड उलटी और जी मिचलाने की समस्या को रोकते हैं। एक छोटे कप में गर्म पानी लें और उसमें 1 नींबू का रस व थोड़ा सा नमक मिलाएं। इसे अच्छे से मिलाकर पिएं। आप नींबू के रस को गर्म पानी में मिलाकर या शहद डालकर भी पी सकते हैं। यात्रा के दौरान होने वाली परेशानियों को दूर करने का यह एक कारगर इलाज है।

आंक का पत्ता – दोस्तों एक बार आयुर्वेद की बहुत बड़ी वर्कशॉप हुई थी, उसमे इस बारे में सब ने कई इलाज बताए, ये इलाज कई बार काम करते है कई बार नहीं. लेकिन उस वर्कशॉप में एक वेध ऐसा भी था जिसमे आंक के पत्ते से से ऐसा इलाज बताया जोकि अचूक है. उसने कहा कि मै खुद इसका बहुत से लोगो पर अजमा चूका हु. इसको कैसे प्रयोग करना है, इस विडियो में देखिए.

इस विडियो में दिया गया तरीका अगर आपने अपना लिया तो आपको कभी उलटी नहीं होगी >>