विदेशी कोक और पैप्सी पर भारी पड़ा भारत का जूस, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी हालत हुई ख़राब

11167

नई दिल्लीः जूस का स्वाद अब लोगों को कोक और पैप्सी के फिजी ड्रिंक्स (गैस मिश्रित पेय) से ज्यादा भा रहा है। नीलसन के डाटा के मुताबिक इस वर्ष के पहले 6 महीनों में रीयल, स्लाइस और ट्रॉपिकाना जैसे जूस ब्रांड्स सबसे ज्यादा बिकने वाले 5 पेय पदार्थों में पैप्सी और कोक के फिजी ड्रिंक्स से आगे निकल गए।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर घटती बिक्री से कोका-कोला परेशान 
नीलसन के डाटा अनुसार डाबर का रीयल, पैप्सिको का स्लाइस मैंगो ड्रिंक और ट्रॉपिकाना जूस मॉडर्न ट्रैंड में ज्यादा बिकने वाले शीर्ष 5 पेय पदार्थों में शामिल हैं। ये उत्पाद कोक और पैप्सी से भी आगे निकल चुके हैं। मॉन्डेलेज का टैंग पाऊडर ड्रिंक और हमदर्द का ड्रिंक रूहअफजा भी शीर्ष पेय पदार्थों में शामिल हैं।

इस विडियो में देखिए सॉफ्ट ड्रिंक की सच्चाई क्या है >>

हैल्थ एंड वेलनेस सैक्टर हुआ 33,000 करोड़ रुपए का 
रिसर्च एजैंसी नीलसन की बीते साल की रिपोर्ट के मुताबिक देश में हैल्थ एंड वेलनेस सैक्टर 33,000 करोड़ रुपए का हो चुका है। ये सालाना 6 फीसदी की दर से बढ़ रहा है।

रिटेल में फिज ड्रिंक हुए आऊट 
रियल फ्रूट जूस, स्लाइस और ट्रॉपिकाना ने कोका कोला, पैप्सी जैसे फिज ड्रिंक को सबसे ज्यादा बिकने वाले टॉप फाइव ब्रांड से बाहर कर दिया है। जूस और जूस आधारित ड्रिंक फिज ड्रिंक के मुकाबले 2.5 फीसदी ज्यादा तेजी से बढ रहे हैं। ये ट्रेंड पिछले 6 महीने से चल रहा है।

फ्रूट जूस मार्कीट में डाबर रहा लीडर 
डाबर फ्रूट जूस 1998 में लांच हुआ था। डाबर फ्रूट जूस ने 1,000 करोड़ रुपए से अधिक की सेल की है। डाबर के चीफ एक्जीक्युटिव सुनील दुग्गल ने बताया कि फ्रूट जूस मार्कीट में कम्पनी का मार्कीट शेयर 55 फीसदी है। कम्पनी के रियल फ्रूट जूस के 32 से अधिक वेरिएंट है।

इंडियन टैस्ट ने दी मदद 
दुग्गल ने कहा कि कम्पनी के इंडियन टैस्ट के मुताबिक फ्रूट जूस बनाने, ज्यादा रेंज और लोगों का हैल्थ पर बढ़ते फोकस ने मार्कीट को बढ़ाने में मदद की है। कम्पनी का सबसे ज्यादा मिक्स्ड जूस बिकता है। कम्पनी को लीची, मौसमी, कोकोनट, रेड ग्वावा जैसे भारतीय टेस्ट के वेरिएंट मार्कीट में उतारने से फायदा मिला है।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें