पेट्रोल पंप वाले इन 12 तरीकों से देते हैं आपको धोखा, हमेशा इन बातों का ख्याल रखें

273

क्रूड ऑयल की बढ़ती दरों में ने एक बार फिर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोत्‍तरी के संकेत दे दिए हैं। पेट्रोल की कीमतें वैसे भी 70 रुपए के पार पहुंच चुकी हैं। इस महंगाई के दौर में अक्‍सर हर कोई शिकायत करता है कि पेट्रोल पंप पर उसे कम तेल मिला है। कई बार जाने अनजाने में हममे से ज्‍यादतर लोगों ने इस तरह का धोखा जरूर खाया होगा। हम आपको कुछ ऐसे कारणों के बारे में बताते हैं, जिसके चलते कई बार आपकी जेब को चपत लग जाती है। आप थोड़ी सी सावधानी रखकर इस तरह के नुकसान से बच सकते हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही तरीकों के बारे में…

(1) हमेशा रिजर्व से पहले भरवाएं पेट्रोल:

बहुत कम लोगों को पता है कि खाली टैंक में पेट्रोल भरवाने से नुकसान होता है। इसका कारण है कि जितना खाली आपका टैंक होगा, उतनी ही हवा टैंक में मौजूद रहेगी। ऐसे में आप पेट्रोल भरवाते हैं, तो हवा के कारण पेट्रोल की मात्रा कम मिलेगी। इसीलिए कम से कम टैंक के रिजर्व तक आने का इंतजार नहीं करें। आधा टैंक हमेशा भरा रखें।

(2) डिजिटल मीटर वाले पेट्रोल पंप पर ही जाएं:

पेट्रोल हमेशा डिजिटल मीटर वाले पंप पर ही भरवाएं। दरअसल पुरानी पेट्रोल पंप मशीनों पर कम पेट्रोल भरे जाने की संभावना ज्यादा रहती है और आप इसे पकड़ भी नहीं सकते हैं। यही कारण है कि देश में लगातार पुरानी पेट्रोल पंप मशीनें को हटाया हटाई जा रहीं हैं और डीजिटल मीटर वाले पम्प इंस्टाल किए जा रहे हैं। आप भी ध्यान रखें।

(3) रूक-रूक कर चल रहा हो मीटर:

अक्सर आपने देखा होगा कि पेट्रोल भरने के समय मीटर बार-बार रुक जाता है। हालांकि धीरे धीरे करके इसी तरह आपको पेट्रोल दे दिया जाता है। जानकारों के मुताबिक, बार बार रुकने से आपको पेट्रोल का नुकसान होता है। इसलिए अगर किसी पेट्रोल पंप पर ऐसी मशीन है तो इस मशीन पर पेट्रोल भरवाने से बचें।

(4) मीटर से नजर नहीं हटाएं:

अधिकांश लोग जब अपनी कार में पेट्रोल/डीजल भरवाते हैं तो गाड़ी से नीचे नहीं उतरते हैं। इसका फायदा उठाते हैं पेट्रोलपम्पकर्मी। पेट्रोल भरवाते समय कार से उतरें और मीटर के पास खड़े हों और सेल्सकर्मी की सारी गतिविधियों को देखें। इससे आपके साथ चीटिंग होने के मौके बेहद कम हो जाते हैं।

(5) हमेशा जीरो देखकर की पेट्रोल डलवाएं:

हो सकता है आपको बातों में लगाकर पेट्रोल पंपकर्मी जीरो तो दिखाए, लेकिन मीटर में आपके द्वारा मांगा गया पेट्रोल का मूल्य नहीं सेट करे। आजकल सभी पेट्रोल पंप पर डीजिटल मीटर होते हैं। इनमें आपकी ओर से मांगा गया पेट्रोल फिगर और मूल्य पहले ही भरा जाता है। इससे पेट्रोलपम्प कर्मी की मनमानी और चीटिंग करने की गुजांइश बेहद कम हो जाती है।

(6) रीडिंग हो इससे स्टार्ट:

पेट्रोल पंप मशीन में जीरो फिगर तो आपने देख लिया, लेकिन रीडिंग स्टार्ट किस फिगर से हुई। सीधे 10, 15 या 20 से। मीटर की रीडिंग कम से कम 3 से स्टार्ट हो। अगर 3 से ज्यादा अंक पर जंप हुआ तो समझो आपका नुकसान भी उतना ही होगा।

(7) अगर मीटर चल रहा हैं तेज:

आपने पेट्रोल आर्डर किया और मीटर बेहद तेज चल रहा है, तो समझिए कुछ गड़बड़ है। पेट्रोलपंपकर्मी को मीटर की स्पीड नौर्मल करने को कहें। हो सकता है तेज मीटर चलने से आपकी जेब कट रही हो।

(8) चेक करते रहें माइलेज:

पेट्रोल चुराने के लिए पंप मालिक अक्सर पहले से ही मीटर में हेराफेरी करते हैं. जानकार नरेश तनेजा के मुताबिक देश में कई पेट्रोल पंप अब भी पुरानी तकनीक पर चल रहे हैं जिसमें हेराफेरी करना बेहद आसान है. नियमों के मुताबिक पेट्रोल डालने की मशीन में खराबी आने पर सिर्फ तेल कंपनी के मैकेनिक ही उसे ठीक कर सकते हैं. लेकिन पेट्रोल पंपों के मालिक अक्सर प्राइवेट मैकेनिकों की मदद लेते हैं. मशीन में छेड़छाड़ उसी वक्त होती है. लिहाजा आप अलग-अलग पेट्रोल पंपों से तेल डलवाएं और अपनी गाड़ी की माइलेज लगातार चेक करते रहें.

(9) चेक करें कहीं पाइप में बल तो नहीं:

तेल डलवाते समय गाड़ी को मशीन से थोड़ा दूर खड़ा करें ताकि पाइप तना हुआ रहे और उसमें पड़े बल में तेल बचा ना रह जाए.

(10) राउंड फिगर की रकम देकर ना भरवाएं तेल:

ज्यादातर लोग 500, 1000 या 2000 जैसी रकम अदा करके पेट्रोल या डीजल भरवाते हैं. लेकिन कई पेट्रोल पंप मालिक एसे नंबर के लिए पहले ही मशीन को फिक्स करके रखते हैं. इसलिए बेहतर होगा कि आप राउंड फिगर की रकम देकर पेट्रोल ना भरवाएं. मसलन 530 रुपये या 1575 रुपये का पेट्रोल भरवाने से पेट्रोल की चोरी कठिन होगी और आपकी जेब नहीं कटेगी. इसके लिए जहां तक मुमकिन हो कार्ड से पेमेंट करें.

(11) कहीं तेल की जगह हवा तो नहीं भरवा रहे आप ?

टंकी फुल कराते समय ऑटो कट होने के बाद अक्सर पेट्रोल पंप वाले राउंड फिगर में पेट्रोल भर देने की बात करते हैं. इसके लिए राजी ना हों क्योंकि ऑटो कट होने के बाद अक्सर आपकी गाड़ी की टंकी में कम तेल जाता है और कई बार मशीन रीसेट नहीं होने की वजह से कोई तेल ही नहीं जाता यानी सिर्फ हवा आपकी गाड़ी की टंकी में जाती है.

(12) शिकायत दर्ज करवाना ना भूलें:

अगर आपको पेट्रोल चोरी का जरा भी शक हो तो पेट्रोल पंप के मैनेजर से कंप्लेंट बुक मांगकर लिखित शिकायत दर्ज करवाना ना भूलें. अगर आपको कंप्लेंट बुक देने में आनाकानी की जाए तो कंपनी के कस्टमर केयर से शिकायत करें.