जापान के लोग मोटे क्यों नहीं होते, ये हैं 9 सीक्रेट

2921

जापान के लोग दुनिया भर में सबसे ज्यादा हेल्दी और फिट माने जाते हैं। इसके पीछे उनकी खान-पान की आदतों का बहुत बड़ा हाथ है। एक रिसर्च के मुताबिक अमेरिका के लगभग 35% ओबेसिटी रेट के मुकाबले जापान में ओबेसिटी रेट महज लगभग 3% है। जापान की एक चौथाई से भी कम आबादी मोटापे के निर्धारित मापदंड को पार करती है। आइए जानते हैं कि जापान के लोग मोटे क्यों नहीं होते?

1- प्रोसेस्ड फूड कम और फ्रेश फूड ज्यादा खाना

जापान के लोग फ्रेश फूड ज्यादा खाते हैं और प्रोसेस्ड फूड कम खाते हैं। इससे अनावश्यक वजन बढ़ाने वाले प्रिजर्वेटिव्स, केमिकल्स और ऑयल से बचाव होता है और वे फिट रहते हैं।

2- कच्ची सलाद और सी फूड ज्यादा खाना

जापान के लोगों की डाइट में कम फैट और ज्यादा फाइबर्स होते हैं। यह डाइट वेट लॉस में मददगार है। वे सी फूड ज्यादा खाते हैं। इनमें मौजूद ओमेगा -3 फैटी एसिड हेल्दी रखता है।

3- कम तेल, धीमी आंच या भाप में पका फूड खाना

जापान के लोग कम तेल, धीमी आंच या भाप में पका फूड खाना पसंद करते हैं। इससे उनकी डाइट में फैट नहीं बढ़ता। फूड के न्यूट्रिशन्स बरकरार रहते हैं। वजन कंट्रोल रहता है।

4- दिन में 3 से 5 बार थोड़ा-थोड़ा खाना

जापान के लोग दिन में कई बार थोड़ा – थोड़ा खाते हैं। इससे मेटाबॉलिज्म और डाइजेशन अच्छा रहता है। फैट और कैलोरी तेजी से बर्न होती है।

5- भूख से कम खाना

जापान के लोगों में भूख से थोड़ा कम लगभग 80% खाने का रिवाज है। इससे एक्स्ट्रा कैलोरी से बचाव होता है।

6- हेल्दी चाय पीना

जापान के लोग आमतौर पर ग्रीन टी जैसी हेल्दी चाय पीते हैं जिससे फैट बर्निंग तेज होती है और मोटापा नहीं बढ़ता।

7- छोटी प्लेट में धीरे-धीरे खाना

जापान के लोग छोटी प्लेट में धीरे-धीरे खाते हैं। इससे फूड को डाइजेस्ट होने का पर्याप्त टाइम मिलता है। फैट डिपॉजिट नहीं होता।

8- रिफाइंड फूड और मीठा कम खाना

जापान के लोग रिफाइंड फूड और मीठा कम खाना पसंद करते हैं। इससे एम्प्टी कैलोरीज से बचाव होता है। पेट और कमर के आसपास चर्बी जमा नहीं होती।

9- हेल्दी और हेवी ब्रेकफास्ट करना

जापान के लोग हेवी और हेल्दी ब्रेकफास्ट करते हैं। इससे उन्हें दिन भर भूख कम लगती है और एनर्जी बनी रहती है। ओवरईटिंग से बचाव होता है।

10- आराम से बैठकर खाना

जापान के लोग आराम से बैठकर खाना खाते हैं। इससे डाइजेशन अच्छा होता है। मेटाबॉलिज्म प्रॉपर होता है। फैट जमा नहीं होता।

ये विडियो देखिये >>