खाली वक्त में करें ये 5 साइड बिजनेस, कमाई में माने गए हैं बेहतर

796

खाली समय का सही इस्तेमाल सभी करना चाहते। वहीं लोग ये भी चाहते हैं कि समय का इस्तेमाल इस तरह किया जाए कि इनकम में भी फायदा हो। आज हम आपको बता रहे हैं 5 साइड बिजनेस जो आपकी ये दोनो इच्छाएं पूरी करेंगे। इन 5 साइड बिजनेस को कमाई के हिसाब से कई औसत फुल टाइम नौकरियों से बेहतर मान गया है।

पार्ट-टाइम जॉब ऑफर करने वाली कंपनी फ्लैक्सीजॉब ने इन जॉब को अपनी टॉप जॉब लिस्ट में शामिल किया है अमेरिकी कंपनी फ्लैक्सीजॉब भारत के लिए भी जॉब ऑफर करती है। अगस्त के महीने में  कंपनी ने भारतीयों के लिए 10 कैटेगरी में पार्ट-टाईम जॉब ऑफर किए हैं। फ्लैक्सी जॉब के मुताबिक लिस्ट में सिर्फ उन साइड बिजनेस को शामिल किया गया है, जिसमें होने वाली हर घंटे की औसत कमाई अमेरिकी सरकार द्वारा तय न्यूनतम प्रति घंटे आय (7 डॉलर) का कम से कम दोगुना हो।

ग्रुप फिटनेस इंस्ट्रक्टर 
फ्लैक्सी जॉब की लिस्ट में सबसे ऊपर ग्रुप फिटनेस इंस्ट्रक्टर हैं। वेबसाइट्स के मुताबिक योग, फिटनेस, साइकलिंग, इस सेग्मेंट में आते हैं। वेबसाइट के मुताबिक इस जॉब की सबसे खास बात ये है लोग पहले खुद अपने खाली समय में इन एक्टिविटी को सीखते हैं, बाद में वो खुद इस सर्विस को ऑफर करने लगते हैं। यानि अपने खाली समय के इस्तेमाल में ये सबसे अच्छा ऑप्शन है। अमेरिकी में इस जॉब के लिए कम से कम 40 डॉलर प्रति घंटे तक मिल जाते हैं। वहीं दिल्ली में एक से दो घंटे हर दिन के योग सेशन के लिए औसत फीस 2000 रुपए प्रति व्यक्ति प्रति माह है। अगर टीचर फेमस है या सिखाई जा रही एक्टिविटी खास है तो कमाई कई गुना ज्यादा हो सकती है।

स्पेशल एजुकेशन ट्यूटर

– बुजुर्ग हो या किसी परेशानी से जूझ रहा बच्चा- स्पेशल एजेकुशन ट्यूटर की जरूरत हर जगह बढ़ रही है।

– स्पेशल ट्यूटर उन लोगों को कहते हैं जो किसी खास जरूरत के हिसाब से सिखाने में मदद करते हैं।

– इन जॉब में साइन लैंग्वेज सिखाने वालों से लेकर, किसी अक्षमता के शिकार लोगों के ट्यूटर शामिल हैं।

– फ्लैक्सी जॉब के मुताबिक अक्सर अवेयरनेस बढ़ाने के लिए सरकारें, इंस्टीट्यूशन, कंपनियां या स्कूल इस तरह के प्रोग्राम चलाती हैं जहां वो ट्यूटर को पार्ट टाइम जॉब ऑफर करते हैं।

– अमेरिका में एक साइन लैंग्वेज सिखाने वाले को हर घंटे 35 डॉलर तक मिल सकते हैं।

दो या दो से ज्यादा भाषाओं के जानकार

– अगर आप एक से ज्यादा भाषाएं जानते हैं तो आपके पास अवसरों की कमी नहीं, खास तौर पर भारत जैसे देश में जहां कई तरह की भाषाएं हैं।

– फ्लैक्सी जॉब के मुताबिक कंटेट का ट्रांसलेशन हो या किसी कंपनी के अधिकारी का दुभाषिया बनना, या फिर एक से ज्यादा भाषाओं में माहिर होना काफी फायदे मंद जॉब है।

– सबसे खास बात ये है कि अगर आप कोई दूसरी भाषा नहीं जानते तो आप अपने खाली समय का इस्तेमाल कर इसे सीख सकते हैं और बाद में इसका इस्तेमाल दूसरों को सिखाने में कर सकते हैं।

इवेंट/ प्रोडक्ट फोटोग्राफर

– खाली समय में फोटोग्राफी करना कई लोगों का शौक होता है, वहीं दूसरी तरफ कई कंपनियां ऐसे लोगो की तलाश करती हैं जो उनके लिए किसी खास इवेंट में जाकर पूरे इवेंट या फिर किसी प्रोडक्ट की फोटोग्राफी कर सकें। मीडिया हाउस भी बेहतर फोटोग्राफ्स की तलाश करते रहते हैं।

– इस जॉब में फोटोग्राफी के साथ एडिटिंग की जानकारी होना जरूरी माना जाता है।

– कई लोग फोटोग्राफी की मदद से फोटो फीचर भी पोस्ट करते हैं, जो किसी इवेंट, प्रोडक्ट या किसी टूर का हिस्सा हो सकते हैं।

– एक्सपर्ट्स के मुताबिक राइटिंग के मुकाबले फोटो फीचर ज्यादा देखे जाते हैं ऐसे में इन पोस्ट्स के हिट होने की संभावना भी ज्यादा होती है।

– फ्लैक्सी जॉब के मुताबिक प्रोडक्ट फोटोग्राफर हर घंटे कम से कम 20 डॉलर कमा लेते हैं।

रिज्यूम राइटर

– फ्लैक्सीजॉब के मुताबिक आपको जॉब ऑफर होने में सबसे अहम रोल दिलाता है आपका बायोडाटा या रिज्यूम या सीवी, लेकिन खास बात ये है अधिकांश लोग नहीं जानते है कि बायोडाटा, या रिज्यूम कैसे तैयार किया जाए।

– यहीं पर रिज्यूम राइटर की मदद ली जाती है। रिज्यूम राइटर बनने के लिए आपको सिर्फ भाषा पर पकड़ और प्रजेंटेशन स्किल चाहिए।

– फ्लैक्सीजॉब के मुताबिक इस जॉब में कमाई इस बात पर निर्भर होती है कि आप कितने एक्सपीरियंस वाले प्रोफेश्नल के लिए के लिए रिज्यूम बना रहे हैं। अक्सर मिडिल मैनेजमेंट से टॉप जॉब के लिए एप्लाई करने वाले एग्जीक्यूटिव फ्रीलांसर एक्सपर्ट्स के साथ काम करते हैं। दरअसल ऊपरी लेवल के जॉब एप्लीकेशन में औपचारिकताएं और प्रजेंटेशन काफी अहम होता है।

– भारत में फ्रीलांसर रिज्यूम राइटर 500 से 3000 रुपए प्रति रिज्यूम फीस चार्ज करते हैं।

कहां हैं साइड जॉब्स के ऑफर

– साइड बिजनेस पाने के दो तरीके हैं इसमें फ्लैक्सिबल जॉब ऑफर करने वेबसाइट्स हैं। वहीं डायरेक्ट अप्रोच से भी काम किया जाता है।

– फ्रीलांसर डॉट कॉम और फ्लैक्सी जॉब भारतीयों के लिए भी साइड बिजनेस ऑफर करती हैं। आपको जॉब ऑफर करने के बदले ये आपसे फीस लेती हैं।

– इसके अलावा कई कंपनियां सीधे शॉर्ट टर्म प्रोजेक्ट्स निकालती हैं। लोग सोशल मीडिया के जरिए भी बिजनेस पाने की कोशिश करते हैं।

– खास बात ध्यान रखें कि साइड बिजनेस कमाई का बड़ा जरिया है और लोग लगातार अवसरों की तलाश में लगे रहते हैं। इससे इन जॉब्स में जालसाजी का खतरा भी उतना ज्यादा है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक सभी जेनुइन कंपनियां जॉब मिलने से पहले आपसे फीस नहीं मांगती। वहीं स्थापित हो चुकी कंपनियां अगर फीस लेती हैं तो वो भी काफी मामूली।