ये पेय घर पर ही बनेगा और आपको सिर्फ 3 महीने लेने है,

22892

सुंदर सपने से सजी शादी की लाइफ उस समय बदरंग बन जाती है जब किसी पुरूष की जिदंगी में आता वो समय जिसकी सभी को अभिलाषा होती है घर का हर सदस्य अपने आने वाले नये मेहमान का बेस्रबी से इंतजार करता है पर ये इतंजार बढ़ते बढ़ते जब सालों में बदल जाये तो दोनो के बीच एक प्रश्न बनकर खड़ा हो जाता है। क्योकि शारीरिक संपर्क को दौरान भी किसी ना किसी के शरीर में इसकी कमजोरी प्रश्न बनती खड़ी रहती है. जब पुरूषों में शुक्राणु के बनने के लक्षण कम होते है तो उनमें नपुंसकता बढ़ने लगता है जिससे बच्चे के पैदा होने में दुविधा खड़ी हो जाती है। सामान्य तौर पर एक स्वस्थ या हेल्दी पुरूष में 15 मिलियन शुक्राणु की कोशिकाओं का होना काफी आवश्यक होता है। जिसमें स्वस्थ शुक्राणु के इन लक्षणों के अलावा रूप, संरचना और गतिशीलता का होना जरूरी माना जाता है। यदि आप थोड़ी सी सतर्कता बरते तो आप अपनी जीवनशैली में कुछ सुधार लाकर शुक्राणु की गुणवत्ता और संख्या को बढ़ा सकते है।

इस विडियो में देखिए कैसे आप अपने शुक्राणुओं को बढ़ा सकते है >>

लौंग नपुंसकता की बहुत अच्छी दवा है. लौंग का नाम याद आया तो मै आपको इसके फायदे भी बताता हूं. ये बहुत बढ़िया चीज है. ये तो आप जानते है कि ये कफ की हर बीमारी मे काम आती है. लेकिन एक बीमारी में राजीव भाई ने इसका बहुत उपयोग किया है, और इतने बढ़िया परिणाम आए जो आपको बताने है. अगर ऐसा कोई भी पुरुष जिसके वी र्य मे शुक्राणु नही बनते, उनके लिए लौंग सबसे अच्छी दवा है. उनको लिए लौंग का पानी अमृत है, और उनको लौंग का पानी  रोज पीना चाहिए. बाजार में लौंग का तेल भी आता है. एक बूंद लौंग का तेल, एक चम्मच गर्म पानी मे डाल के रोज पिएगे तो वी र्य में बहुत शुक्राणु बनेगे. कई बार हमे ये चमत्कार लगता है लेकिन राजीव भाई को ऐसे कई पुरुष जिनके इसी एक कारण से शादी के कई साल बाद भी बच्चे नही हो रहे थे, उनको राजीव भाई ने तीन महीने लौंग का तेल दिया और अभी सब बाप बन गये. इसीलिए लौंग नपुंसकता की सबसे अच्छी दवा है. लौंग कफ में खांसी मे भी कई जगह काम आती है,

नपुंसकता की कुछ और दवा बताता हु जैसे ये लॉन्ग है वैसे ही अपने घर मे एक और दवा है वो भी न्म्पुस्कता को खत्म करती है और उसका नाम है चुना. जी हाँ वही चुना जो पान में डाला जाता है. ये चुना गेहू के दाने के बराबर, दही मे मिलाए किसी को  भी खिलाओ वीर मे शुक्राणु बहुत बनते है. और गन्ने के रस मे मिलाकर खिलाओगे तो और अच्छा परिणाम मिलते है. गन्ने के रस का आधा गिलास में गेहू के दाने के बराबर चुना मिलाकर पिए, ये नपुंसकता की बहुत अच्छी दवा है. इसको माताएं भी ले सकती है जिन माताओं के शरीर मे अंडे नही बनते. उनको भी गन्ने के रस मे चुना खिलाओ बहुत बढ़िया दवा है