बिस्तर को गिला करने की समस्या का घरेलू इलाज ! कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं

22493

सामान्य रूप से ये समस्या छोटे बच्चो में अधिक पायी जाती है. इस समस्या में बच्चे रात को सोते समय बिस्तर गीला कर देते है. बच्चो मे पाई जाने वाली ये बहुत आम समस्या है. आम तौर पर ये समस्या 4 से 5 वर्ष के आयु से छोटे बच्चो मे पाई जाती है. क्योकि 5 से 6 आयु की उम्र तक बच्चे अपने मूत्राशय पर नियंत्रण रखना सीख लेते है. यदि बच्चे 6 वर्ष की आयु के बाद बिस्तर मे पेशाब करते है तो इसे एक गंभीर समस्या माना जाता है

इस समस्या के लिए भाई राजीव दीक्षित जी का ये विडियो जरुर देखे >>

जिन माता – पिता को ये शिकायत है कि उनके बच्चे रात को बिस्तर गिला कर देते है, इसकी सबसे अच्छी दवा है खरिक (खजूर). खजूर तो अपने देखा ही होगा. इस समस्या के उपचार के लिए रातको सोने से पहले खजूर को दूध में डालिए. एक गिलास दूध में 3-4 खजूर डालिए और उसको अच्छी तरह उबालिए. फिर बच्चो को कहे कि खजूर को चबाकर खाए और दूध को पी ले. अगर ये उपचार आपने 15 दिन कर दिया तो आपका बच्चे की ये बिस्तर गिला करने की समस्या हल हो जाएगी.

इसमे आपके पास एक विकल्प और है अगर आपको खजूर कही ना मिले तो आप छवारा भी ले सकते है. छुवारा तो आपको पता ही होगा. किसमिस की तरह ही होता है, उसका आकार बड़ा होता हैऔर वो सुखा हुआ होता है. अधिक जानकारी के लिए आप विडियो में भी देख सकते हो.