गुड़ का करें ऐसे इस्तेमाल तो दमकती त्वचा के साथ निखर जाएगा चेहरा

1032

बड़े-बुजुर्ग खाना खाने के बाद अक्सर सबको गुड़ खाने की सलाह देते हैं।पर क्या आप जानते हैं गुड़ सेहत के लिए जितना अच्छा होता है उतना ही आपकी खूबसूरती निखारने के काम भी आता है। आपको शायद ही पता हो कि गुड़ बीमारियों के साथ लड़ने के अलावा चेहरे के दाग-धब्बे भी मिटाता है। खास बात यह है कि गुड़ बालों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं गुड़ किस तरह से आपको खूबसूरत बनाने में आपकी मदद करता है।

एक्ने और मुंहासों में लाभदायक-

नियमित रूप से गुड़ खाने से चेहरे के काले धब्बे और पिंपल्स आदि दूर होने शुरू हो जाएंगे। इसका पैक बनाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं। इसके लिए 1 चम्मच गुड़ में 1 चम्मच टमाटर का रस, आधा नींबू का रस, चुटकीभर हल्दी और थोड़ी गरम ग्रीन टी मिलाएं। फिर इसे चेहरे पर 15 मिनट तक लगाकर धो लें।

चेहरे की झुर्रियां-

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है चेहरे पर झुर्रियां आना शुरू हो जाती हैं। गुड़ में एंटी ऑक्सीडेंट होता है जो फ्री रैडिक से लड़ने में सहायक होता है। रोज गुड़ खाने से एक तो झुर्रियां दूर हो जाती हैं, दूसरा उम्र भी कम लगने लगती है।

खूबसूरत बाल-

गुड़ बालों को घना और खूबसूरत बनाता है। गुड़ में मुल्तानी मिट्टी, दही और पानी मिलाकर पैक बना लें। ये पैक बाल धोने के एक घंटे पहले लगा लें। इसके बाद धो दें। इससे बाल घने तो होंगे ही साथ में मुलायम और चमकदार भी हो जाएंगे।

स्किन के लिए जरूरी-

गुड़ में ढेर सारे मिनरल्स और विटामिन्स होने के कारण यह एक नेचुरल क्लींजर की तरह काम करता है। गुड़ खाने वालों को कब्ज की शिकायत नहीं रहती है। पेट साफ होगा तो स्किन भी ग्लो करेगी। गुनगुने पानी या फिर चाय में शक्कर की जगह गुड़ मिलाकर रोजाना पीना चाहिए।

खून साफ करता-

खून न साफ होने से हमें कई स्किन प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। गुड़ खून भी साफ करता है और एनीमिया से भी बचाता है। खून साफ होने से शरीर पर फोड़े-फुंसी नहीं होंगे। इसलिए रोज गुड़ का सेवन करना चाहिए। वे लोग जो ओवरवेट या फिर मधुमेह से पीड़ित हैं, उन्हें गुड़ खाने से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

जानिए असली और नकली गुड की पहचान >>

हमारे देश में हजारो सालो से गुड की ही चाय पी जाती थी, ये कुछ सालो में चीनी ने आकार सब का स्वास्थ्य बिगाड़ दिया है. हर घर में डायबटीज और आर्थराइटिस के मरीज मिलने लगे है. और भी बहुत गंभीर बिमारियों ने लोगो को घेर लिया है, इसमे चीनी का बहुत बड़ा योगदान है. जब राजीव भाई लोगो को गुड की चाय के बारे में बताते थे तो, कुछ लोगो का सवाल होता था कि अक्सर गुड की चाय बनाने के प्रयास में हमारी चाय फट जाती है. इस स्थिति से बचने के लिए हम क्या करे. इस सवाल के जवाब में राजीव भाई ने कहा कि उसी गुड की चाय फटती है, जिसमे केमिकल मिलाया जाता है.

गुड बनाने के लिए कोई केमिकल प्रयोग में नहीं लिया जाता. गन्ने में से रस निकाला जाता है. फिर उसको गर्म किया जाता है और फिर ठंडा करके उसमे से गुड बनाया जाता है. जबकि चीनी में 22 तरह के केमिकल मिलाएं जाते है

dइस विडियो में देखिए गुड कैसे बनता है >>