इस नमक से पुरुषो में Sperm Count और महिलाओं में Ovulation बहुत कम हो जाते है

6055

नमस्कार दोस्तों, एक बार फिर से आपका हमारी वेबसाइट में बहुत बहुत स्वागत है. यहाँ आपको राजीव दीक्षित जी के हर प्रकार के घरेलू नुस्खे एवं औषधियां मिलेंगी. तो दोस्तों जैसा की हम सब जानते ही हैं कि नमक दो प्रकार के होते हैं. नमक की एक किस्म वह होती है, जो कि इंसान बनाता है और हम घरो में इस्तेमाल करते हैं. ये नमक समुद्रों से पाया जाता है. इस नमक को आयोडीन युक्त नमक भी कहा जाता है. वही दूसरी किस्म वह होती है, जिसको खुद ईश्वर बनाता है. इस नमक को लाहौरी नमक अर्थात सेंधा नमक भी कहा जाता है. कुछ लोग इस नमक को उपवास का नमक भी कहते हैं.

जब दोनों नमक को लेबोरेटरी में टेस्ट किया गया तो ये नतीजा सामने आया कि समुद्र के पानी का जो नमक है, इसमें शरीर के काम आने वाले केवल तीन या चार ही माइक्रो न्यूट्रिएंट्स है. जो कि कभी 3 से 4 और कभी कभी तीन भी रहते हैं. इसके उल्ट अगर सेंधा नमक की बात की जाए तो उसमें 94 तक माइक्रो न्यूट्रिएंट्स है. तो कुल मिलाकर हम ये कह सकते है कि लाहौरी नमक समुद्री नमक से कही गुना ज्यादा बेहतर है.

जब हम समुद्री नमक खाते हैं, तो इससे हमारे शरीर के कॉन्प्लिकेशन बढ़ते है क्योंकि ये नमक हमारे शरीर के अनुकूल नही होता. क्योंकि समुद्र का पानी शुद्ध नही होता. समुद्र का पानी केवल भगवान के वर्ष चक्कर पर ही निर्भर करता है. तो हम इसका लेबोरेटरी में कितना भी शुद्धिकरण क्यों न करें, इसका प्रॉपर शुद्धिकरण नही होता.

जैसा कि हम सब जानते ही हैं कि आजकल ब्लड प्रेशर की बीमारी काफी कॉमन हो गयी है. तो ये समुद्र का नमक इस बीमारी को और ज्यादा बढ़ावा देता है. ब्लड प्रेशर के बढने एवं घटने का सबसे बड़ा कारण समुद्री नमक ही है. आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि भारतीयों ने केवल 70 साल पहले ही समुद्री नमक को खाना शुरू किया था, इससे पहले वह सब सेंधा नमक का ही इस्तेमाल करते थे. एक्स्ट्रा आयोडीन वाला नमक खाने से हमारे शरीर में जरुरत से ज्यादा आयोडीन की मात्रा हो जाती है. जिससे कोई भी इंसान नपुंसक हो सकता है. नपुंसकता के सर प्लस आयोडीन आपके शरीर में जितना आता जाएगा वह आपको नपुंसक बनाता जाएगा.

समुन्द्र के किनारे तैयार होता आयोडीन युक्त नमक

दुनिया के 56 देशों ने अतिरिक्त आओडीन युक्त नमक 40 साल पहले ban कर दिया अमेरिका मे नहीं है जर्मनी मे नहीं है फ्रांस मे नहीं ,डेन्मार्क मे नहीं , यही बेचा जा रहा है डेन्मार्क की सरकार ने 1956 मे आओडीन युक्त नमक बैन कर दिया क्यों ?? उनकी सरकार ने कहा हमने मे आओडीन युक्त नमक खिलाया !(1940 से 1956 तक ) अधिकांश लोग नपुंसक हो गए ! जनसंख्या इतनी कम हो गई कि देश के खत्म होने का खतरा हो गया ! उनके वैज्ञानिको ने कहा कि आओडीन युक्त नमक बंद करवाओ तो उन्होने बैन लगाया ! और शुरू के दिनो मे जब हमारे देश मे ये आओडीन का खेल शुरू हुआ इस देश के बेशर्म नेताओ ने कानून बना दिया कि बिना आओडीन युक्त नमक बिक नहीं सकता भारत मे !! वो कुछ समय पूर्व किसी ने कोर्ट मे मुकदमा दाखिल किया और ये बैन हटाया गया !

राजीव जी ने बताया कि वह डॉक्टर रह चुके है. वह अपने मरीजों का हमेशा फ्री में इलाज़ किया करते थे. उनके पास बहुत सारे ऐसे मरीज़ आते थे, जिनके सारे टेस्ट नार्मल होने के बावजूद भी वह माँ-बाप नही बन पाते थे. तो लास्ट में जब उनमे आयोडीन की मात्रा चेक करते थे तो उन्हें पता चलता था की उनमे आयोडीन की मात्रा जरूरत से ज्यादा होती थी, इसीलिए वह माँ-बाप नही बन पाते थे. क्यों की ज्यादा मात्रा में लिया गया आयोडीन पुरुषो के स्पर्म काउंट को कम कर देता है और स्त्री के अभीलेशन का काम खत्म कर देता है. जिससे वह कभी माँ-बाप नही बन पाते. ऐसे मामले में आपको डरने की जरूरत नही है. आप केवल अपना नमक बदलकर सेंधा नमक अपना लीजिये एक दो साल में ही आपको संतान का सुख प्राप्त होगा.

किसी को अगर ऐसा लगता है कि उनका एनर्जी लेवल कम या सेक्स पावर कम हो रही है, तो आप इतना ही करो कि अपना नमक बदल लो. सेंधा नमक खाना शुरू करो. नमक चेंज करते ही आप देखना आप में बदलाव आएंगे. अक्सर आपने देखा होगा की TV में बहुत सारी आयोडीन नमक की advertisements आती है, जिनसे आम इंसान डर जाता है. कि कहीं वाक्य में इस नमक का उपयोग न करने से उनको कोई आपत्ति ना आ जाए, तो आप इस विज्ञापनबाजी में मत जाइए. इसमें जरुर सरकार का कोई फायदा होगा जो ऐसे विज्ञापन बनाये जाते है.

नमक के पहाड़

सरकार हम सबको  जबरदस्ती ये नमक खिला रही है. इससे हमारे शरीर में एल्युमिनियम सिलिकेट बढ़ता जा रहा है और उनके कारण लंग इन्फेक्शन, दमा, अस्थमा, बरमकेला ,ट्यूबरक्लोसिस आदि ऐसी बीमारियाँ बढती जा रही है. क्योंकि एल्युमिनियम सिलिकेट बहुत खराब केमिकल है. एल्युमिनियम हैवी मेटल है. तो इसमें वह सब डिपॉजिट होता है जो कभी फ्लो आउट नहीं होता. तो इसलिए मेरी आप सब को हाथ जोड़ कर विनती है कि अगर जिंदगी भर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो आयोडीन नमक आज से ही बदल दीजिए.

अधिक जानकारी के लिए नीचे दी गयी विडियो देखना ना भूलें