15 बीमारी एक इलाज – अगर आप भी ये रस पिएंगे तो ये 15 बीमारियाँ कभी पास नहीं आएंगी

2473

आपके स्वयं पाक घर में बहुत अच्छी औषध है. जिसका नाम है दूधी भोप्ला (लोकी). दूधी भोप्ला (लोकी) जो की बेहद अध्भुत है, इसकी भाजी आप खाते है जो की खाने में बहुत स्वादिष्ट होती है. दूधी भोप्ला (लोकी) की हम करकरी भी खाते है. दूधी भोपले का रस हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक है. अगर हम इसका रस पीये तो इससे हमारे शरीर की १५ अलग बिमारिओ का इलाज हो सकता है. जैसा की हम सब जानते ही है कि हृदये रोग मनुष्य शरीर की सबसे घातक बीमारी है, जो की पल भर में ही किसी की भी जान बिना सोचे समझे ले सकती है. लेकिन आप सबको ये जानकर ख़ुशी होगी कि इस खतरनाक बीमारी का इलाज मामूली सी दूधी भोप्ला (लोकी) बखूबी कर सकती है.

राजीव दीक्षित जी ने बताया है कि दूधी भोप्ला (लोकी) एक जीवन देने वाली औषिधि साबित हो सकती है. निचे लिखे स्टेप्स को अपना कर आप लोग दूधी भोप्ला (लोकी) का उपयोग बहुत सारे रोगो से छुटकारा पाने के लिए कर सकते है. तो चलिए जानते है की आखिर हमे करना क्या है :

  1. सबसे पहले आपको दूधी भोप्ला (लोकी) को छोटे छोटे हिस्सों में काटना है.
  2. काटने के बाद दूधी भोपले को पीस ले ता कि उससे आप दूधी भोप्ला (लोकी) की चटनी बना सके.
  3. फिर उसको कपड़े में लपेट के रखना है, नही तो मिक्सर में छोटे-छोटे पीस काट के उनका उपयोग कर सकते है.
  4. अब इस दूधी भोपलेका रस तैयार हो चूका है, इसमें थोडा पुदीने का रस मिला दें.
  5. इसके बाद एक गिलास दूधी भोपले के रस में आधा चमच पुदीने का रस डाल कर उन्हें मिला दे.
  6. अब आधा चमच पुदीने का रस मिलाने के बाद, इसमें आधा चम्मच आल यानि अदरक का रस मिला दे. आप इसमें तुलसी का रस भी मिला सकते है.
  7. ये सब मिलाने के बाद अब जो रस तैयार हुआ है, इसको सुबह सुबह पीना है. इससे आपके हृदय की हालत कितनी भी ख़राब क्यों न हो, ठीक हो जाएगी।

तीन महीने अगर किस ने ये दूधी भोप्ला (लोकी) से तैयार किया गया रस पी लीया तो, उसको जिंदगी में कभी हृदयघात रोग नहीं होगा. आप लोगो ने अक्सर देखा होगा कि यदि इन रोगो से छुटकारा पाने के लिए हम लोग हस्पतालों में भी जाते है तो, डॉक्टर भी कहता है कि “ऑपरेशन करा लो, नही तो परसों आपको हार्ट अटैक आ जायेगा.” आप लोग इस स्थिति में डॉक्टर को नमस्ते करके घर आ जाइए.

लेकिन अब आपको हिम्मत हारने की जरूरत नहीं है क्योकि इस दूधी भोप्ला (लोकी) के रस को अगर आप लोग पीना शरू कर देंगे तो मात्र तीन दिन में ही असर दिखाई देगा. इसके लिए राजीव दीक्षित खुद गरंटी लेते है कि ऐसा करने से आपको अगले 30 साल हार्ट अटैक नही आयेगा. हृदय घात की सभी समस्याओ में सबसे अच्छी दवा है सिर्फ दूधी भोप्ला (लोकी) का रस है. कुछ डॉक्टर आपको ये भी कहते हैं कि आपके हृदय में ब्लॉकेज है और आपकी हार्ट बीट भी ब्लाक हो गयी है. ऐसे में आप लोग उस डॉक्टर को नमस्ते करके घर आ जाना. क्योकि वो कहेगा, “आपको ऑपरेशन करना है नही तो, हम कुछ नहीं कर सकते.”

ऐसे में आप लोगो को डरने या घबराने की जरूरत नहीं है आपको तो डॉक्टर को कहना चाहिए कि ” जीना मरणा सब इश्वर के हाथ में है. आपको नमस्ते, क्योकि आपने हमको सलाह दी और बहुत बहुत धन्यवाद.”

घर आकर आप दूधी भोप्ला (लोकी) का रस पीना चालू कर दे. उस डॉक्टर के पास जाने की जरूरत ही नही पड़ेगी. हृदय की सभी बिमारिओ में सबसे अच्छी दवा है दूधी भोप्ला (लोकी). दूधी भोप्ला (लोकी) से एक और रोग ठीक होता है और वो है घुटने का दर्द और कमर का दर्द एव कंधे का दर्द. दूधी भोप्ला (लोकी) का रस 3-4 महीने में ये सब रोग ठीक कर देगा. यही नहीं इस दूधी भोप्ला (लोकी) एक और रोग ठीक होता है और वो है, आधा सर का दर्द यानि माइग्रेन. यही नहीं इस दूधी भोप्ला (लोकी) से और भी कई तरह के रोग ठीक होते है जिनमे से कुछ है : कब्जियत यानि कोषक बद्धता एव मल बद्धता. आपके रक्त में कई बार एसिडिटी बढ़ जाती है. वैसे तो ज्यादातर एसिडिटी पेट में होती है लेकिन कई बार रक्त में आ जाती है और रक्त की एसिडिटी सबसे खराब होती है. इतने खतरनाक रोग आते है की जिसको कोई ठीक न कर पाए. जैसे की सोयारिस, पिचिओयोसुइस, मग्जिमा आदि. इन सब रोगों की एक ही ओषधि है और वो है दूधी भोप्ला (लोकी) का रस.

अगर आपको ब्लड प्रेशर हाई रहता है, तो ये दूधी भोप्ला (लोकी) आपके ब्लड प्रेशर को नॉर्मल कर देगा. जिन लोगो को मोटापे की शिकायत रहती है, उनका बजन 3-4 महीने में ही दूधी भोप्ला (लोकी) कम कर देगा. इसके इलावा नींद नही आती तो दूधी भोप्ला (लोकी) का रस पीजिये, बहुत अच्छी नींद आयेगी. अगर आपको भूख नही लगती तो दूधी भोप्ला (लोकी) का रस पीये. आँखों की रौशनी कम हो गयी है तो इससे आपकी आँखों की रौशनी बढ़ जाएगी.

अगर आपकी आँखों की रौशनी काम हो गयी है तो आप दूधी भोपले का रास लगभग 3 से 4 महीने तक पीयें, इससे आपकी आँखों की रौशनी बढ़ जाएगी. अगर आप दूधी भोपले का एक बीज घर पर लगा ले तो उसमे 100 दूधी भोपले आएंगे. इसके लिए आपको किसी बड़ी जगह की आवश्यकता नहीं है केवल एक गमले में लगाने से भी दूधी भोपले आपको प्राप्त हो जायेंगे. एक बात हमेशा याद रखिये की दूधी भोपले के रास का सेवन करने के 40 मिनट तक आप कुछ खा नहीं सकते यानि आपको 40 मिनट तक भूखा रहना होगा. हमेशा ये ध्यान रखे  कि दूधी भोपले में आपको नमक नहीं मिलाना है. अगर आप इसमें नमक मिला लेंगे तो समझियेगा कि इसकी सारी ताकत खत्म हो गयी. इसके इलावा आप इसके रास में तुलसी का रस भी मिला सकते है. ढुंढी भोप्ला बेहद अध्भुत है.

क्या आप जानते है? डॉक्टर लोग अगर हृदयघात रोग से पीड़ित हो तो, वह कभी खुद का ऑपरेशन नहीं करवाते. बल्कि, वह खुद दूधी भोपले के रस का सेवन करते है. ऐसे बहुत से लोग है जिन्होंने ह्रदय के लिए कई तरह की सर्जरीस करवाई लेकिन, उन्हें कोई फरक महसूस न हुआ तो हार कर उन्होंने इस दूधी भोपले के रस का सेवन किया और वो कुछ ही समय में एकदम ठीक हो गए.

दूधी भोपले दो प्रकार के होते है. इनमे से एक गोल तरह के होते है और दूसरे लम्बे. इनमे से लम्बे वाले भोपले को गोल वाले भोपले से ज्यादा अच्छा माना जाता है. अगर भोपले में बीज कम हो तो और भी बेहतर रहेगा. हमेशा कच्चे भोपले का इस्तेमाल कीजिये क्योकि कच्चे भोपले का सेवन ज्यादा लाभदायक है.

लौकी परीक्षण :- 

ये केसे पता करें कि लोकी असली है या इंजेक्शन लगे हुई है. आप लोग लोकी पर नाखून लगाकर देख लीजिये कि नाखून पूरा अंदर जाता है या नही –  अगर नाखून पूरा अंदर जाता है तो लोकी असली है –  अगर नाखून पूरा अंदर नही जाता है और वह पर केवल निशान बन जाता है तो लोकी इंजेक्शन लगाई गई लोकी है कोई आपरेशन की आपको जरूरत नहीं पड़ेगी.. घर में ही हमारे भारत के आयुर्वेद से इसका इलाज हो जाएगा.. और आपका अनमोल शरीर और लाखो रुपए आपरेशन के बच जाएँगे.. और पैसे बच जाये. तो किसी गौशाला में दान कर दे. डाक्टर को देने से अच्छा है.किसी गौशाला दान दे.. हमारी गौ माता बचेगी तो भारत बचेगा..

इस विडियो के बिना ये पूरा पोस्ट अधुरा, जरुर देखे >>