बिच्छू के काटने पर करे ये उपाय ! कुछ ही समय में डंक अपने आप बाहर निकल जाएगा

138916

बिच्छू एक विषैला कीड़ा है जिसके काटने पर बहुत अधिक दर्द होता है और कई बार यह दर्द इतना भयानक हो जाता है की इंसान की मृत्यु तक हो जाती है लेकिन यह बहुत कम होता है | बिच्छू के काटने पे सबसे पहले किये जाने वाले उपचारों में से एक है की आप उस जगह के आगे और पीछे को अच्छे से बाँध दे जिससे जहर शरीर में नहीं फैलेगा

लक्षण – बिच्छू के दंश से स्पष्ट रूप से सूजन दिखाई दे भी सकती है और नहीं भी। हालाँकि, हर बिच्छू के दंश के कारण उस समय पर तेज़ दर्द और जलन होगी जो बाद में झुनझुनाहट या सुन्नपन के रूप में बनी रहती है। ये लक्षण भी देखने को मिलता हैं।

  • उल्टियाँ, पसीना आना, या मुंह से झाग आना
  • अनैक्छिक मूत्रत्याग या मलत्याग
  • मांसपेशियों की ऐंठन जिनमे सिर, गर्दन या आँखों की अनैक्छिक गतिविधियाँ या चलने में परेशानी शामिल है
  • अनियमित ह्रदय दर
  • सांस लेने, निगलने, बोलने या देखने में परेशानी होना
  • एलर्जिक प्रतिक्रिया के कारण गंभीर सूजन आना

बिच्छू काटने पर बहुत दर्द होता है जिसको बिच्छू काटता है उसके सिवा और कोई जान नही सकता कितना भयंकर कष्ट होता है। तो बिच्छू काटने पर एक होम्योपैथिक दावा है उसका नाम है Silicea 200 इसका लिक्विड 5 ml घर में रखे । बिच्छू काटने पर इस दावा को जीभ पर एक एक ड्रोप 10-10 मिनट के अंतर पर तीन बार देना है । बिच्छू जब काटता है तो उसका जो डंक है होता है वो उसको अन्दर छोड़ देता है वही दर्द करता है ।

इस डंक को बाहर निकलना आसान काम नही है, डॉक्टर के पास जायेंगे वो स्किन को कट करेगा चीरा लगायेगा फिर खिंच के निकालेगा उसमे ब्लीडिंग भी होगी तकलीफ भी होगी। ये मेडिसिन इतनी बेहतरीन मेडिसिन है कि आप इसके तीन डोस देंगे 10-10 मिनट पर एक एक बूंद और आप देखेंगे वो डंक अपने आप निकल कर बाहर आ जायेगा। सिर्फ तीन डोस में आधे घन्टे में आप रोगी को ठीक कर सकते है। बहुत जबरदस्त मेडिसिन है ये Silicea 200. और ये मेडिसिन मिट्टी से बनती है, वो नदी की मिट्टी होती है, जिसमे थोड़ी बालू रहती है उसी से ये मेडिसिन बनती है ।

इस मेडिसिन को और भी बहुत सारी काम में आती है । अगर आप सिलाई मशीन में काम करती है तो कभी कभी सुई चुब जाती है और अन्दर टूट जाती है उस समय भी आप ये मेडिसिन ले लीजिये ये सुई को भी बाहर निकाल देगा

आप इस मेडिसिन को और भी कई केसेस में इस्तेमाल कर सकते है जैसे कांटा लग गया हो, कांच घुस गया हो, ततैया ने काट लिया हो, मधुमखी ने काट लिया हो ये सब जो काटने वाले अन्दर जो छोड़ देते है वो सब के लिए आप इसको ले सकते है । बहुत तेज दर्द निवारक है और जो कुछ अन्दर छुटा हुआ है उसको बाहर निकलने की मेडिसिन है । बहुत सस्ता मेडिसिन है 5 ml सिर्फ 10 रूपए की आती है जो होम्योपैथिक स्टोर से मिलेगी. इससे आप कम से कम 50 से 100 लोगों का भला कर सकते है ।

सारी जानकारी लिख पाना असंभव है ये विडियो देखिए >>

विशेष- परिस्थिति के मुताबिक निर्णय लेते हुए आवश्कता पडऩे पर डॉक्टर से भी सलाह लें। जब किसी को बिच्छू काट ले तो तुरंत उस जगह को करीब चार उंगल ऊपर से किसी कपड़े से या रस्सी से बांध देना चाहिए। ताकि उसका जहर खून के साथ शरीर के बाकी हिस्सों में न फैले।

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें