जानिए नकसीर या नाक से खून बहने का कारण और उसे रोकने के उपाय

618

कई बार नाक से अचानक से खून आने लगता है। चिकित्‍सा जगत में इसे नकसीर फूटना कहा जाता है। बच्‍चों में यह समस्‍या अक्‍सर देखी जाती है, नाक में चोट लग जाने या बहुत गर्मी के दिनों में नाक से खून निकलना आम बात होती है, क्‍योंकि नाक के ऊतक क्षतिग्रस्‍त हो जाते हैं।बड़े लोगों में यह समस्‍या, रक्‍तचाप बढ़ जाने के कारण होती है या फिर किसी प्रकार का संक्रमण होने पर होती है, जिस बीमारी के कारण ऐसी समस्‍या होती है उसे आर्टरियोस्‍केलिरोसिस कहा जाता है। आपको जानकर भय लग सकता है कि कैंसर का प्रांरभिक लक्षण भी नाक से खून निकलना होता है। लेकिन लोग अक्‍सर इस पर गौर नहीं करते हैं।

नकसीर की बीमारी

नाक से खून भी दो प्रकार से आता है जिसे एंटीरियर नोज़ब्‍लीड या पोस्‍टीरियर नोज़ब्‍लीड कहा जाता है, जिनमें से पोस्‍टीरियर नोज़ब्‍लीड़ घातक और जानलेवा होता है। नाक से खून बहने के कई कारण, लक्षण और उपचार होते हैं जिनके बारे में बोल्‍डस्‍काई के इस आर्टिकल में बताया गया है।

नाक से रक्‍त निकलने के कारण –

नाक से रक्‍त निकलने के कई कारण हो सकते हैं। साइनस संक्रमण के कारण या सर्दी-जुकाम की दवाईयों को लेने से या फिर नाक वाला स्‍प्रे इस्‍तेमाल करने से नाक वाले रास्‍ते में खुश्‍की हो जाती है जिसके कारण खून निकलने लगता है, इसमें खतरे की कोई बात नहीं होती है। लेकिन कई बार कुछ बीमारियों जैसे – ल्‍यूकेमिया, लिवर की बीमारी, हीमोफीलिया या अन्‍य आनुवांशिक क्‍लॉटिंग बीमारी होने पर भी नाक से खून निकलने लगता है। सिर में चोट आने पर भी नाक से खून निकल सकता है ऐसे में लापरवाही न बरतें और तुरंत डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें।

नाक से रक्‍त निकलने के लक्षण –

नाक में रक्‍त आने पर आपको नाक में गीलापन महसूस होता है और कुछ बह रहा है ऐसा महसूस होता है। जब नाक से ज्‍यादा खून निकलता है तो वह अपने आप बाहर निकल आता है जिसे आप देख सकते हैं। कई बार पेशाब और मल में भी खून आने लगता है।

नाक से खून या नकसीर रोकने के घरेलू उपाय……

नाक से खून निकलने पर व्‍यक्ति के नथुनों को पकड़ लें और उसे सीधा बैठ जाने को कहें। 5 से 10 मिनट यूं ही बैठाये रखें। सिर केा हिलाने न दें। न ही लेटने दें। वरना गले में खून उतरने पर सांस की नली में अवरोध हो सकता है। बर्फ का इस्‍तेमाल एकदम से नहीं करना चाहिए। सबसे पहले नाक पर मॉश्‍चराइजर या कोई क्रीम लगाएं। खून रूक जाने पर आईसक्‍यूब से सेंक लें।

  • ठंडा पानी सिर पर धार बनाकर डालने से नाक से खून बहना बंद हो जाता है.
  • नकसीर आने पर नाक की बजाय मुंह से सांस लेना चाहिए.
  • प्याज को काटकर नाक के पास रखने और सूंघेने से नाक से खून आना बंद हो जाता है.
  • नाक से बहने पर सिर को आगे की ओर झुकाना चाहिए.
  • सुहागे को पानी में घोलकर नथुनों पर लगाने से नकसीर बंद हो जाती है.
  • बेल के पत्तों का रस पानी में मिलाकर पीने से फायदा होता है.
  • गर्मियों के मौसम में सेब के मुरब्बे में इलायची डालकर खाने में नकसीर बंद हो जाती है.

  • बेल के पत्तों को पानी में पकाकर उसमें मिश्री या बताशा मिलाकर पीने से नकसीर बंद हो जाती है.
  • ज्यादा तेज धूप में घूमने की वजह से नाक से खून बह रहा हो तो सिर पर ठंडा पानी डालने से नाक से खून बहना बंद हो जाता है.
  • नकसीर आने पर कपड़े में बर्फ लपेटकर रोगी की नाक पर रखने से भी नकसीर रूक जाती है.
  • एक बड़ा चम्मच मुलतानी मिट्टी रात को आधा लीटर पानी में भिगोकर रख दें. सुबह को उस पानी को निथारकर पीने से नाक से खून आने की परेशानी से फायदा मिलेगा.
  • लगभग 15-20 ग्राम गुलकंद को सुबह-शाम दूध के साथ खाने से नकसीर का पुराने से पुराना मर्ज भी ठीक हो जाता है.

नाक से रक्‍त निकलने का घातक कारण –

इबोला वायरस एक घातक बीमारी है जिसमें भी नाक से रक्‍त निकलने लगता था। ल्‍यूकेमीया एक प्रकार की रक्‍त सम्‍बंधी बीमारी है जिसमें शरीर की कोशिकाएं प्रभावित हो जाती है जिसके कारण नाक से खून बहने लगता है। हीमोफीलिया बी होने पर नाक से रक्‍त आने लगता है जो कि बहुत दुर्लभ बीमारी है, इसमें नाक से रक्‍त आना काफी कष्‍टप्रद होता है।

नाक से रक्‍त आने को किस प्रकार रोकें?

खुराक में अधिक साइट्रस फलों का सेवन करें। साइट्रस फलों में बायोफ्लैवोनाइड्स की मात्रा काफी ज्‍यादा होती है जिसके कारण नाक से रक्‍त आने की समस्‍या दूर हो जाती है।

दवाईयों का सेवन

कई बार आपके द्वारा खाई जाने वाली दवाएं भी नाक से रक्‍त निकलने का कारण बन जाती हैं। जैसे कि एस्प्रिन और हेपेरिन, इन दवाईयों में ऐसे तत्‍व होते हैं जो रक्‍त को पतला कर देते हैं और कई बार इसके कारण ही नाक से रक्‍त बहने लगता है। अगर ऐसा है तो अपने डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें।

हॉस्‍पीटल कब जाएं –

अगर बच्‍चे को चोट लगने के कारण नाक से खून आने लगता है तो देर न करें। उसे शीघ्र ही हॉस्‍पीटल ले जाएं। एक्‍सीडेंट होने पर नाक से खून आने पर भी लापरवाही न बरतें। कई बार दिमाग में चोट लगने पर भी नाक से खून आने लगता है।

इस विडियो में देखिये उपचार >>