छाती की बीमारी (दमा, अस्थमा और टीबी) का सफल घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

10793

दमा और अस्थमा दोनों छाती की भयकंर बीमारी है. अस्थमा के लिए अपने घर में ही एक दवाई  है वो है दालचीनी. इसको गर्म पानी के साथ ले. अगर आपके पास कुछ पैसे है तो शहद मिलाकर भी पी सकते है, आधा चम्मच दालचीनी, आधा चम्मच शहद दोनों मिला के गर्म पानी के साथ ले. एक और बिलकुल मुफ्त की दावा है वो है गाय का मूत्र, इसे आधा कप पियेगे तो दमा बिलकुल ठीक हो जाएगा. इससे दमा भी ठीक होगा और अस्थमा भी ठीक होगा. गंभीर से गंभीर अस्थमा भी ठीक होगा, और गर्भवती गाय का मुत्र कभी न पीये. जो गाय माँ नही बनी या कुवारी गाय का मूत्र सबसे अच्छा होता है.

इस विडियो में देखिए दमा और अस्थमा का इलाज >>

गौमूत्र दमा और अस्थमा दोनों ठीक करता है और टीबी भी ठीक करता है. अगर आप टीबी के लिए अंग्रेजी दवा खायेगे तो ठीक होने में 9 महीने लगते है, लेकिन गो मूत्र पियोगे तो 3 महीनों मे ही ठीक हो जाएगे. मैंने इसके बहुत से परीक्षण देखे है. अगर हम किसी को ठीक होने के लिए अंग्रेजी दवा देते है तो उसको टीबी बार बार होती है शुरू मे ठीक रहता है फिर दुबारा हो जाती है फिर ठीक रहता है फिर हो जाती है लेकिन अगर गो मूत्र पी लेंगे तो उसको दुबारा कभी टीबी नही होगी इसलिए गों मुत्र बहुत अच्छे से टीबी ठीक करता है.