अगर आपको भी दूध पचाने में हो रही है समस्या तो ये आयुर्वेदिक नुस्खे अपनाएं

7868

दूध सेहत के लिए फायदेमंद है, यह हर कोई जानता है लेकिन कुछ लोगों को दूध को हजम करने में दिक्कत होती है। या तो उनका पेट फूल जाता है या पेट खराब हो जाता है। यदि आपका पाचन तंत्र भी मजबूत नहीं है तो आपको दूध ठीक से हजम नहीं हो पाएगा। आयुर्वेद के अनुसार दूध पीने के कुछ नियम हैं, जिनका पालन करने से आपको दूध हजम हो जाएगा। आगे जानें उन नियमों के बारे में…

दूध में न मिलाएं शक्कर 
लोग बिना शक्कर मिलाए दूध पीना पसंद नहीं करते, जबकि आयुर्वेद का मानना है कि यदि रात में बिना शक्कर मिलाए दूध पियेंगे तो वह अधिक फायदेमंद होगा। हो सके तो दूध में शक्कर की बजाए एक चम्मच गाय का घी मिलाएं। आयुर्वेद के अनुसार, देसी गाय का दूध सबसे अधिक फायदेमंद होता है। अगर संभव हो तो यही दूध पीना चाहिए

ताजा और जैविक दूध पीएं 
आजकल शहरों में ज्यादातर लोग पैकेट वाले दूध के भरोसे रहते हैं जबकि पैकेट वाला दूध न ताजा होता है और न ही जैविक। आयुर्वेद के अनुसार, ताजा, जैविक और बिना हार्मोन की मिलावट वाला दूध सबसे अच्छा होता है।
कच्चा दूध न पीएं 
इसके साथ ही कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार दूध को उबालकर गर्म अवस्था में ही पीना चाहिए

लौंग व इलायची मिलाएं 
जिन लोगों को दूध हजम नहीं होता उनके लिए दूध पीने का एक और तरीका है। दूध में एक चुटकी अदरक, लौंग, इलायची, केसर, दालचीनी और जायफल आदि मिलाएं। इससे आपके पेट में अतिरिक्त गर्मी बढ़ेगी, जिससे दूध हजम हो जाएगा।

केसर डालकर पीएं 
अक्सर किसी न किसी वजह से हम रात का खाना नहीं खा पाते। आयुर्वेद के अनुसार, ऐसी स्थिति में एक चुटकी जायफल और केसर डालकर दूध पी लें। इससे नींद भी अच्छी आती है और साथ ही शरीर को ऊर्जा भी प्राप्त होती है।

नमकीन चीज के साथ दूध नहीं 
किसी भी नमकीन चीज के साथ दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। क्रीम सूप या फिर चीज को दूध के साथ न खाएं। दूध के साथ खट्टे फल भी नहीं खाने चाहिए। आमतौर पर, दूध इन चीजों के साथ मिलकर रिऐक्शन करता है। इसके अलावा दूध के साथ मछली का सेवन भी नहीं