डायबिटीज का मुख्य कारण कोलेस्ट्रोल है, सबसे पहले कोलेस्ट्रोल को कण्ट्रोल करना जरुरी है

3636

नमस्कार दोस्तों, आपका एक बार फिर से हमारी वेबसाइट में बहुत बहुत स्वागत है. यहाँ आपको राजीव जी के हर प्रकार के घरेलू नुस्खे एवं औषधियां प्राप्त होंगी. तो दोस्तों आज के आर्टिकल की चर्चा का विषय है डायबिटीज और कोलेस्ट्रोल. जैसा की हम सब जानते ही है कि शरीर में कोलेस्ट्रोल का बढ़ना हार्ट अटैक की निशानी है.

हमारे रक्त में कोलेस्ट्रॉल बहुत बढ़ गया है तो इंसुलिन जिस स्पीड से जाना चाहिए नहीं जा पाता है, स्लो हो जाता है. कभी कभी ऐसा हो जाता है कि रक्त बिल्कुल गाढा हो जाता है तो वह इंसुलिन बैठ जाता है.  इंसुलिन वहीं बिल्कुल उसके ऊपर बैठता है तो वह बैठा हुआ इंसुलिन है जो रक्त में डिटेक्ट हो जाता है. और जब चेक करेंगे तो वही गुलकोज आता है, जिसे कहते हैं ब्लड शुगर.

आप ध्यान रखिए कि ब्लड शुगर का चीनी के साथ कोई कनेक्शन नहीं है, बल्कि इसका कोलेस्ट्रॉल के साथ कनेक्शन है. इस बात को डॉक्टर भी जानता है लेकिन कभी बताता नहीं है. क्योंकि कोलेस्ट्रॉल को कम या ज्यादा करना तो हमारे खुद के हाथ में ही है. डॉक्टर कहेगा यह सब ठीक नहीं है और आपको जिंदगी भर इंसुलिन का इंजेक्शन लेना होगा, जिंदगी भर दवाई खानी होगी. लेकिन एक बात समझ नही आती की जिंदगी भर तो खाना खाया जाता है, जिंदगी भर तो दाल खाई जाती है, जिन्दगी भर तो सब्जी खाई जाती है परन्तु इंसुलिन थोड़े ही खाया जाता है. डायबिटीज के पेशेंट को अपनी सारी ताकत इस बात पर लगानी है के उनके रक्त का कोलेस्ट्रॉल घटे, और जैसे-जैसे कोलेस्ट्रॉल घटेगा खून पतला होने लगेगा और यही इंसुलिन गुलकोज लेकर जाने लगेगा जो नहीं जा रहा था. सिंपल सी बात है कि डायबिटीज के पेशेंट को भी वही सब करना है जो हर्ट के पेशेंट को करना है.

तो हर्ट और डायबिटीज एक ही सिक्के के दो हिस्से है. इसमें भी खून को पतला करना पड़ेगा, कोलेस्ट्रॉल कम करना पड़ेगा और अच्छा कोलेस्ट्रोल बढ़ाना पड़ेगा. जबकि बुरा कोलेस्ट्रॉल कम करना पड़ेगा. तो वह सब काम करिए जो आप हार्ट की रक्षा के लिए करते हैं. यानि की सीधी सी बात ये है कि हार्ट पेशेंट और डायबिटिज के पेशेंट का एक ही इलाज है.

इस विडियो में देखिए हार्ट के मरीज को क्या क्या करना चाहिए >>

तो घबराने की कोई बात नही है आप मेथीदाना खाइए, आंवला खाइए, घी बदल दीजिए, नमक बदल दीजिए, तेल बदल दीजिए, छिलके वाली दाल खाइए और छिलके वाली सब्जियां खाइए.  तो यह सब डायबिटीज के लिए भी लागू होंगा जो कुछ हार्ट के लिए लागू होगा. बस एक ही चीज इसमें लागू नहीं होगी और वो है एकोनाइट दवा. क्योंकि यह एकोनाइट सिर्फ हार्ट के लिए है डायबिटीज के लिए नहीं है.

एक एक्स्ट्रा चीज डायबिटिज पेशेंट को लेनी होगी और वह शायद आपके रसोईघर में ना मिल.  लेकिन बाजार में आसानी से उपलब्ध है. ये कोई और चीज़ नही बल्कि जामुन की गुठली है. बाजार में जामुन की सुखी गुठलियां मिलती है. आपको उनका पाउडर बनाना है और वह पाउडर रोज एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ खाना है. खाली पेट लेंगे तो बहुत अच्छा होगा. जो पानी पानी पीते हैं सुबह उठने के बाद उसके साथ भी ले सकते हैं. जामुन की गुठली का पाउडर सवेरे के पानी के साथ लिया जा सकता है और ज्यादा शुगर बढ़ी हुई है तो समझ लिजिए कोलेस्ट्रॉल और ज्यादा है तो इसको बढ़ा कर दो बार कर दीजिए, यानी सुबह और शाम. शाम को हमेशा खाने के पहले ही लेना है.

जामुन की गुठली का पाउडर आधा चम्मच और करेले के बीज का पाउडर आधा चम्मच यह मिक्स करके ले लीजिए. आपके पास करेले के छोटे-छोटे पीस सूखे हुए हैं तो उसको पीस कर यूज कीजिए, अब आप इसमें चाहे तो नीम की सूखी हुई निंबोली का पाउडर बना लीजिए उसको भी आधा चम्मच ले लीजिए तीनों मिलाकर डेढ़ चम्मच हो गया. अब तीनों को मिक्स करके डायबिटीज के पेशेंट और हार्ट के मरीज़ को दे दें. यह सिर्फ डायबिटीज वालों के लिए है और तीनों मिक्स करके लेंगे तो रिजल्ट बहुत अच्छी होगी. आप इस को सवेरे और शाम को लीजिए. ऐसे करके आप खुद का ट्रीटमेंट आसानी से कर सकते हैं.

अधिक जानकारी के लिए नीचे दी गयी विडियो देखना ना भूलें.