थाईराइड का घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज, सुबह खाली पेट लेना है

7992

नमस्कार दोस्तों, आपका एक बार फिर से हमारी वेबसाइट में बहुत बहुत स्वागत है. यहाँ आपको राजीव जी के हर प्रकार के घरेलू नुस्खे एवं औषधियां प्राप्त होंगी. तो दोस्तों आज के आर्टिकल का विषय है “हाइपरथायराइडिज्म”. राजीव जी के अनुसार, ब्लड प्रेशर यानी हाइपरथायराइडिज्म के लिए भी आपको वही सब करना है, जो उपाए आपने अपने हार्ट के लिए इस्तेमाल किये हैं. हाइपर थायराइडिज्म के केस में बाकी तो आप वही कर सकते हैं जो आप हार्ट के लिए कर रहे हैं लेकिन एक चीज एक्स्ट्रा है जो आपको हाइपरथायराइडिज्म में इस्तेमाल करनी होगी. और वह धनिया का पत्ता है. आपको इसकी चटनी बनाकर गरम पानी में मिलाकर पीनी है. अब थायराइड बढ़ने के बहुत सारे कॉन्प्लिकेशन है. जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि हार्मोनस का डिस्प्ले न होना एक बहुत बड़ी कॉन्प्लिकेशन है, और मोटापा बढ़ना इसका दूसरा कॉन्प्लिकेशन है. इसके अलावा तीसरा कॉन्प्लिकेशन है, गर्दन का मोटी हो जाना .

इस विडियो में देखिए हार्ट के लिए क्या क्या किया जाता है >>

आप इससे अच्छा एक ऐसी व्यवस्था करो के पानी के साथ नाली में कीचड़ ही ना जाए, ब्लड में कोलेस्ट्रॉल बढ़ ही नहीं पाए और ट्राइग्लिसराइड बढ़े ही नहीं. आपके खून में सबसे ज्यादा ये सब तब बढ़ता है, जब आप डालडा खाते हैं, रिफाइंड ऑयल खाते हैं या फिर डबल रिफाइनरी खाते हैं, यह चार नाम आप याद रखिए जो सबसे खतरनाक है आपकी जिंदगी के लिए.जितना ज्यादा आप ये सब खाएंगे, बैड कोलेस्ट्रॉल उतना ज्यादा बनेगा. रिफाइनड और डबल रिफाइनड जितना ज्यादा खाएंगे बैड कोलेस्ट्रॉल उससे भी ज्यादा बनेगा. तो पहली बात अपने जीवन में याद रखिए कि हार्ट से जुड़ी हुई किसी भी प्रॉब्लम में तेल तुरंत बदल दीजिए .

इन सब की जगह गाय का घी हो तो बहुत अच्छा है. गाय का घी जिस पर 12 साल राजीव जी ने रिसर्च किया है, ये आपका 1 ग्राम भी कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ने देगा. जो बढ़ने देता है, वह है भैंस का घी. तो जिन को भी हार्ट की प्रॉब्लम है उनको तो भैंस का घी छोड़ ही देना चाहिए. और उसकी जगह गाय का घी कहीं से अरेंज कर लेना चाहिए. दूसरी जानकारी आप के घर में तेल एकदम शुद्ध लाइए. यह जो रिफाइंड तेल है, उसको आप छोड़ ही दीजिए.

शुद्ध तेल का इस्तेमाल कीजिये. जिनके पास तेल निकालने वाली मशीन है, उनके पास सरसों लेकर जाइए और बोलिए की इसका तेल निकाल कर दे दो, जिस कंडीशन में वह तेल निकाल कर देता है वही शुद्ध है. ज्यादा से ज्यादा उसको आप फ़िल्टर करा लीजिए. इसके इलावा एक फ़िल्टर आयल आता है और एक रिफाइंड ऑयल आता है, रिफाइंड आयल गलती से भी मत लाइए पर फिल्टर आयल लाइए. फिल्टर मतलब उसमें कोई केमिकल मिक्सिंग नहीं है.

इसके इलावा और दो तीन चीजें कर सके तो बहुत अच्छा है. खाने के बाद कम से कम हजार कदम पैदल चलना खास करके शाम को बहुत जरूरी है. दोपहर को खाने के बाद आराम करना बहुत जरूरी है. वज्रासन में बैठना बहुत जरूरी है. अगर आपने ये सब तरीके अपना लिए तो हम आपको स्टांप पेपर पर लिख कर देते है कि ऐसा करने से जिंदगी में कभी भी आपको हार्ट अटैक नहीं आएगा. चाहे कितना भी कॉलेस्ट्रोल क्यों ना बढ़ जाये.

हाइपरथायराइडिज्म के सारे कॉन्प्लिकेशन को एक ही मेडिसिन कवर कर लेती है और वह है धनिया का पत्ता. हरे धनिये के पत्ते लें. अब उसको पीस लें और गुनगुने पानी में मिला लें. रात को पानी में डाल दीजिए इससे वह सवेरे नरम हो जाएगा. फिर उसकी चटनी बना लीजिए और पानी में डालकर पी लीजिए. हमेशा याद रखिये कि एक चम्मच एक ही बार मिक्सी में पीस सकते हैं. या आप इसको पत्थर पर भी पीस सकते हैं. यह जो धनिया है इससे आपका थायराइड बहुत कम हो सकता है.

इस विडियो में देखिए हाइपर थाईराइड का इलाज >>