ये हैं जोड़ों के दर्द के रामबाण घरेलू उपचार, आज से अपना लें वरना पड़ेगा महंगा

1563

जोड़ों का दर्द बजुर्गों में होने वाली एक आम समस्या है. इससे चलने में दिक्कत आने के साथ साथ और भी कईं परेशानियों का सामना करना पड़ता है. वहीँ सर्दियों का मौसम शुरू होते ही जोड़ों का दर्द से अपनी चरम सीमा पर पहुँच जाता है और पीड़ित लोगों के सामने बड़ी मुश्किल पैदा करता है.

विशेषज्ञों के अनुसार जोड़ों का दर्द होने के पीछे का कारण जोड़ों में स्तिथ कार्टिलेज है जोकि धीरे धीरे क्षतिग्रस्त होने लगती है और इस वजह से हड्डियां आपस में एक-दूसरे से घिसने या रगड़ने लगती हैं. इससे जोड़ों में जकडन के साथ साथ तेज़ दर्द की सम्भावना बनी रहती है. आज के इस ख़ास लेख में हम आपको जोड़ों के दर्द से बचने के लिए कुछ ऐसे उपचार बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपना कर आप इस दर्द से निजात हासिल कर सकते हैं.

जोड़ों का घुमाव अर्थात जॉइंट रोटेशन

सर्दी में जोड़ों के दर्द को कम करने के लिए जॉइंट रोटेशन अर्थात जोड़ों का घुमाव आपके लिए मददगार साबित हो सकता है. इसके लिए आप साइकिलिंग, स्विमिंग आदि जैसी कसरतों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं. इससे आपके जोड़ों के दर्द को काफी हद तक राहत महसूस होगी साथ ही यह जॉइंट पेन की बिगडती स्तिथि को काबू करने में सहायक है. कसरत के इलावा रोज़ की सैर भी आपके दर्द से आराम दिलवाने में राहतकारी साबित हो सकती है. मगर वाकिंग के दौरान इस बात का ध्यान रखें कि आपके चलने की गति अधिक तेज़ ना हो.

करें अभ्यंग का अभ्यास

अभ्यंग असल में एक तरह की चिकित्सा का रूप है. इस चिकित्सा के दौरान हमारे पूरे शरीर की अलग अलग तेलों की मदद से मालिश की जाती है. ऐसा करने से ना केवल जोड़ों के दर्द में कमी आती है बल्कि वाट भी कम होता है. मालिश से शरीर के उत्तकों से टॉक्सिक बाहर निकलने लगते है. इसके लिए आप आर्गेनिक तेल इस्तेमाल कर सकते हैं. सबसे पहले तेल को गर्म करें और फिर सर से पैर तक लगा कर अच्छे से मालिश करें. हर रोज कम से कम दस मिनट तक मसाज करने से आपको जॉइंट पेन से राहत मिलेगी.

अधिक घी का इस्तेमाल

घी में विटामिन्स और कईं अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं जोकि जोड़ों के दर्द और गठिया जैसे रोगों को काबू करने में मददगार साबित होता है. नियमित रूप से घी को अपनी डाइट में शामिल करने से आपके शरीर की नमी में कमी आती है और जोड़ों के दर्द को आराम मिलता है. घी, तिल या जैतून के तेल के उपयोग से सूजन में राहत मिलती है, जोड़ों में चिकनाई पैदा होती है और जोड़ों में जकड़न कम होती है.

नियमित योगा

योग को अयुरेड पद्दति में सबसे उत्तम माना गया है. कहा जाता है कि योग से हर तरह के रोग को मिटाया जा सकता है. ऐसे में यदि आप जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो अपनी दिनचर्या में योग को आवश्य शामिल करें इससे आपको कुछ ही दिन में बेहतर परिणाम दिखाई देंगे.

इस विडियो में देखिये आयुर्वेदिक उपचार >>