यात्रा में टोल टैक्स की रशीद संभालकर रखे ! ये सुविधाएँ मिलेंगी फ्री

1215

अगर आप नेशनल हाइवे पर अपने वाहन से यात्रा कर रहे हों तो टोल बूथ्स पर फीस देने पर आपको आगे की यात्रा के साथ कुछ सुविधाएं भी मुफ्त में दी जाती हैं. ये एंबुलेंस से लेकर पेट्रोल सुविधा के रूप में मिलती हैं

अक्सर आप अपने वाहन से जब राष्ट्रीय राजमार्ग सड़कों (National Highway) पर चलते हैं तो टोल बूथ्स (Toll Booths) पर आपको यात्रा जारी रखने के लिए तय धनराशि के बदले रसीदें दी जाती हैं. इनसे आप केवल यात्रा ही नहीं कर सकते बल्कि इन रसीदों के कई फायदे भी हैं.

इसलिए इन रसीदों को तब तक जरूर संभालकर रखें, जब तक आपकी यात्रा जारी है. क्योंकि अगर आपने अपनी रसीदें खो दीं तो आप इन फायदों से वंचित रह जाएंगे. क्योंकि इन टोल पर आप पैसे देकर जो रसीद हासिल करते हैं, उससे टोल गेट्स पारकर यात्रा जारी रखने के साथ कई फायदे भी हैं.

नेशनल हाईवे के टोलबूथ्य पर धन देने के बाद आपको जो रसीद मिलती है तो उस पर आपको एक से लेकर चार फोन नंबर रसीद के आगे या पीछे के हिस्से पर मिल जाएंगे. ये फोन नंबर हेल्पलाइन, क्रेन सर्विस, एंबुलेंस सर्विस और पेट्रोल सर्विस के होते हैं.

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण यात्रा के दौरान टोल शुल्क लेने की एवज में आपको ये सारी सेवाएं भी उपलब्ध कराता है. ये चारों नंबर आपको नेशनल हाइवे अथारिटी ऑफ इंडिया की साइट http://tis.nhai.gov.in/TollInformation?TollPlazaID=200 पर भी मिल जाएंगे.

अच्छी बात ये है कि ये सभी हेल्पलाइन नंबर तुरंत उठते हैं. तुरंत मदद उपलब्ध कराई जाती है. हमने खुद इन सभी हेल्पलाइन नंबर पर फोन किया और इन सभी पर हमें त्वरित और पॉजिटिव रिस्पांस मिला.

मेडिकल इमरजेंसी नंबर

नेशनल हाईवे पर यात्रा के दौरान अक्सर मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति बन जाती है. यानी आप या आपके साथ यात्रा कर रहे लोग बीमार हो सकते हैं. ऐसे में रसीद के आगे या दूसरी तरफ दिए मेडिकल इमरजेंसी  फोन नंबर पर कॉल करें.

आपके कॉल के 10 मिनट में एम्बुलेंस आ जानी चाहिए. राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की एंबुलेंस उपलब्ध कराने वाली हेल्पलाइन का नंबर 8577051000 और 7237999911 है. जब इस नंबर पर बात की गई तो हेल्पलाइन ने बताया कि ये सुविधा बिल्कुल मुफ्त है. एंबुलेंस तुरंत मौके पर पहुंचती है. अगर हल्की फुल्की चिकित्सा की जरूरत है तो ये तुरंत दी जाती है, अन्यथा एंबुलेंस तुरंत आपको निकटवर्ती अस्पताल या नर्सिंग होम तक पहुंचा देती है.

हेल्पलाइन नंबर

यदि रास्ते में आपको किसी भी तरह की कोई दिक्कत है तो नेशनल हाईवे अथारिटी के हेल्पलाइन नंबर 1033 .या 108 पर फोन करें. तुरंत मदद मिलेगी. ये सेवा लगातार चौबीस घंटे चलती रहती है. आपका फोन तुरंत एनएचईआई के कॉलसेंटर पर कोई एग्जीक्यूटिव रिसीव करेगा. वो आपकी समस्या का निदान करने की कोशिश करेगा.

पेट्रोल नंबर

यदि अचानक किसी कारणवश आपकी गाड़ी का ईंधन खत्म हो गया तो चिंता की बात नहीं. आप सड़क के किनारे वाहन खड़ा कर दें. रसीद पर दिए गए हेल्प लाइन नंबर या फिर पेट्रोल नंबर पर फोन करें. आपको जल्द से जल्द 5 या 10 लीटर पेट्रोल या डीजल की आपूर्ति की जाएगी. हां, इस ईंधन की रकम का भुगतान करना होगा. पेट्रोल हेल्पलाइन नंबर 8577051000, 7237999944 है.

क्रेन नंबर

अगर यात्रा के दौरान कार या वाहन में कोई खराबी आ जाए. ये रुक जाए तो नेशनल हाईवे की एक हेल्पलाइन तुरंत मदद देगी. वो अपने वाहन पर एक मैकेनिक के साथ आपके पास पहुंचेगी. मैकेनिक को लेकर आने की सुविधा तो मुफ्त है लेकिन आपकी कार या वाहन में जो खराबी है, उसका चार्ज जरूर मैकेनिक वसूल करेगा. अगर समस्या का वहां समाधान नहीं हो सकता तो वाहन को क्रेन उठाकर निकटवर्ती सर्विस सेंटर तक पहुंचा देगी. नेशनल हाइवे अथारिटी का ये हेल्पलाइन नंबर 8577051000, 7237999955 है.

ये सभी सेवाएं आपके द्वारा टोल बूथ्स पर किए भुगतान के बदले दी जाती हैं. सभी टोल नाकों पर एंबुलेंस, रिकवरी गाड़ी और सिक्योरिटी टीम रखी जाती है. आमतौर पर लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती. लिहाजा हम यात्रा के दौरान तनाव में आ जाते हैं. हमें समझ में नहीं आता कि कैसे और कहां से मदद लें.

ये नंबर हमेशा पास रखें

नेशनल हाइवे अथारिटी के इन नंबर को जरूर अपने पास रखें. ये नंबर्स इस तरह हैं.

हेल्पलाइन नंबर – 1033, 108

क्रेन हेल्पलाइन नंबर – 8577051000, 7237999955

एंबुलेंस हेल्पलाइन नंबर – 8577051000, 7237999911

पेट्रोल हेल्पलाइन नंबर – 8577051000, 7237999944